Monday, May 20, 2024
Homeमहाराष्ट्रSDM Jyoti Maurya Case: एसडीएम ज्योति मौर्या के पति आलोक मौर्य के...

SDM Jyoti Maurya Case: एसडीएम ज्योति मौर्या के पति आलोक मौर्य के खिलाफ एक और केस दर्ज, भाई पर भी FIR

प्रयागराज. यूपी की चर्चित एसडीएम ज्योति मौर्या के बाद उनकी जेठानी ने भी ससुराल वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. धूमनगंज थाने में दहेज उत्पीड़न के मामले में एफआईआर दर्ज कराई है. शुभ्रा मौर्या ने एसडीएम ज्योति मौर्या पति आलोक मौर्या, अपने पति विनोद कुमार, ससुर और जेठानीसमेत ससुराल के 7 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है.

ज्योति मौर्या की तरह उनकी जेठानी शुभ्रा ने भी ससुराल वालों पर दहेज उत्पीड़न, प्रताड़ना का आरोप लगाय है. जेठानी शुभ्रा मौर्या प्राइमरी स्कूल में टीचर हैं. शुभ्रा की शिकायत पर उनके पति विनोद मौर्य, ससुर राम मुरारी, सास लीलावती, जेठ अशोक मौर्य, जेठानी प्रियंका मौर्या, देवर आलोक मौर्या समेत एक अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज हुआ है. देवर आलोक मौर्या एसडीएम ज्योति मौर्य के पति हैं.

शुभ्रा मौर्या की शिकायत पर ससुराल वालों के खिलाफ आईपीसी की धारा 498ए, 377, 354, 452, 323, 504, 506, 427 और दहेज अधिनियम 1961 की धारा तीन व चार के तहत केस दर्ज किया गया है. ससुरालियों पर दहेज की मांग करना, मारपीट करना, धमकी देना, गालियां देना, अप्राकृतिक यौन संबंध बनाना व अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है. धूमनगंज थाना पुलिस केस दर्ज कर मामले की विवेचना कर रही है. इसी थाने में एसडीएम ज्योति मौर्या ने  भी अपने पति आलोक मौर्या व ससुराल वालों के खिलाफ लगभग इसी तरह के आरोप लगाकर मई महीने में एफआईआर दर्ज कराई है.

गौरतलब है कि शुभ्रा मौर्या की शादी  विनोद मौर्या से वर्ष 2009 में हुई थी. जेठानी शुभ्रा का आरोप है कि आलोक की तरह ही उनके पति व ससुराल के लोगों ने शादी के वक्त झूठ बोला था. आरोप लगाया है कि धोखे में रखकर शादी की थी. देवरानी ज्योति की तरह शुभ्रा को भी शादी के 6 साल बाद सरकारी नौकरी मिली थी. जेठानी शुभ्रा का कहना है कि इस सरकारी नौकरी में उनके पति या ससुराल वालों का कोई योगदान नहीं है. सरकारी टीचर बनने के लिए जो योग्यता होनी चाहिए, वह पढ़ाई उन्होंने शादी से पहले अपने मायके में ही पूरी कर ली थी. शादी के बाद वह भी ज्योति की तरह ही अफसर बनने की तैयारी कर रही थी, लेकिन सेलेक्शन नहीं होने पर टीचर बन गई.

आरोप लगाया है कि ससुराल वालों ने शादी के वक्त पति विनोद को सरकारी विभाग में ऑफिसर बताकर रिश्ता तय किया था, जबकि वह सीजीएसटी विभाग में आज भी स्टेनोग्राफर ही हैं. आरोप लगाया है कि ससुराल वालों ने उनसे दहेज में पांच लाख रुपये की कार, पांच लाख की ज्वेलरी, पांच लाख रुपये नगद और करीब इतनी ही कीमत के गृहस्थी के सामान लिए थे. विनोद के साथ उनकी शादी जेठानी ज्योति मौर्या के ब्याह से एक साल पहले 2009 में हुई थी.

आरोप है कि शादी के बाद ही ससुराल वालों ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया था. उन्हें और दहेज लाने के लिए लगातार प्रताड़ित किया जाता रहा. एक अलग मकान की मांग की जाते रही. आरोप है कि विनोद मौर्य शराब का आदी था और वह शराब पीकर आए दिन मारपीट और गाली गलौज करता था. सास ससुर भी ताने और उलाहना देते थे. उन्हें लगातार शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जाता था.

दो बेटियों होने पर दूसरी शादी की धमकी

आरोप है कि दो बेटियां होने के बाद ससुराल वालों ने पति विनोद मौर्या की दूसरी शादी कराने की भी धमकी दी थी. बेटा पैदा ना होने पर भी उन्हें खरी- खोटी सुना कर धमकी दी जाती थी. साल 2015 में जब वह सरकारी स्कूल में टीचर बन गई तो ससुराल वालों का मुंह औ र खुलने लगा. उनकी सैलरी का ज्यादातर हिस्सा पति और ससुराल के लोग हड़प लेते थे. आरोप है कि बैंक अकाउंट का एटीएम कार्ड भी पति विनोद मौर्य के पास ही रहता था. डेढ़ साल पहले पति और ससुराल वालों ने मारपीट कर उन्हें घर से निकाल दिया था तो मायके वालों ने उन्हें रहने के लिए एक अलग घर दिलाया. इस घर में भी पति विनोद अक्सर शराब के नशे में आकर मारपीट हुआ हंगामा करता था और पैसों की डिमांड करता था.

” isDesktop=”true” id=”6992659″ >

घर में आकर मारपीट का आरोप

आरोप है कि 10 जुलाई और 15 जुलाई को भी उसके साथ मारपीट की गई. जब उनकी 80 साल की बूढ़ी मां ने मारपीट के दौरान बीच-बचाव की कोशिश की तो उन्हें भी धक्का दिया गया. शुभ्रा ने इस घटना के बाद पुलिस कंट्रोल रूम में फोन किया था और मौके पर पुलिस आई थी. शुभ्रा मौर्या के मुताबिक उन्होंने करीब 5 साल पहले भी कर्नलगंज पुलिस स्टेशन में ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत की थी।लेकिन तब भी उनका केस दर्ज नहीं किया गया था.

Tags: SDM, UP police

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!