Sunday, July 14, 2024
Homeमहाराष्ट्रशांति भारत की सांस्कृतिक विरासत की आधारशिला, UN शांति म‍िशनों में 177...

शांति भारत की सांस्कृतिक विरासत की आधारशिला, UN शांति म‍िशनों में 177 वीर जवानों ने द‍िया सर्वोच्च बलिदान: रुचिरा कंबोज

हाइलाइट्स

संयुक्त राष्ट्र शांति म‍िशनों में 177 वीर भारतीय सैनिकों ने दिया सर्वोच्च बलिदान
आज के युग को युद्ध के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए, इस दृष्टिकोण से कदम उठाए गए.
भारत ने हमेशा अहिंसा, सद्भाव और सह-अस्तित्व के आदर्शों को अपनाया

न्‍यूयॉर्क. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में भारत (India) की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज (Ruchira Kamboj) ने न्यूयॉर्क में आयोज‍ित ‘डिस्कोर्स ऑन पीस’ कार्यक्रम में कहा कि शांति हमेशा से भारत की समृद्ध सांस्कृतिक और दार्शनिक विरासत की आधारशिला रही है. अपने पूरे इतिहास में भारत ने इसे अपनाया है.

कंबोज ने इस बात पर जोर देते हुए कहा क‍ि भारत ने हमेशा अहिंसा, सद्भाव और सह-अस्तित्व के आदर्शों को अपनाया है. उन्होंने महात्मा गांधी के प्रभाव पर बल देते हुए उनको अहिंसात्मक प्रतिरोध का चैंपियन बताया.

कंबोज ने वक्‍तव्‍य देते हुए यह भी कहा क‍ि भारत ने अपने पूरे इत‍िहास में अहिंसा, सद्भाव और सह-अस्तित्व के आदर्शों को अपनाया है. महात्मा गांधी जैसे महान नेताओं की शिक्षाएं, अहिंसक प्रतिरोध के चैंपियन और जिनकी प्रतिमा यहां न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय के खूबसूरत उत्तरी लॉन में सजी है… ने संघर्ष समाधान के लिए देश के दृष्टिकोण को गहराई से प्रभावित किया है.

अगर UN गया भारत नाम करने का प्रस्ताव तो क्या होगा? संयुक्त राष्ट्र के अधिकारी ने कहा- हम करेंगे विचार

इसके अलावा, उन्होंने शांति पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर प्रकाश डालते हुए कहा क‍ि यह महात्मा गांधी जैसे महान नेताओं की सीख से आया है.

उन्होंने कहा क‍ि पीएम मोदी का अक्‍सर उद्धृत किया जाने वाले बयान कि आज के युग की विशेषता युद्ध नहीं होनी चाहिए. इस दृष्टिकोण और गहरे विश्वास से कदम उठाए जाने चाहिए. आज के युग को युद्ध के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. इस दृष्टिकोण और गहरे विश्वास से कदम उठाए गए.

इससे पहले जुलाई में, शांति निर्माण और स्थायी शांति पर संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) की बहस को संबोधित करते हुए, संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने यह भी कहा था कि ग्लोबल साउथ (Global South) के साथ भारत की 40 बिलियन अमेरिकी डॉलर की विकास परियोजनाएं मानव केंद्रित दुनिया के प्रति अटूट प्रतिबद्धता को दर्शाती हैं.

कंबोज ने कहा क‍ि इस गहन मानव-केंद्रित दृष्टिकोण के साथ, भारत सभी शांति निर्माण प्रयासों में एक दृढ़ सहयोगी और उत्प्रेरक बनने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्‍होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि भारत ने हमेशा शांति स्थापना और शांति निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. यह कहते हुए कि भारत अहिंसा में निहित शांति का प्रतीक है. कंबोज ने कहा कि देश को 10 शांति मिशनों में तैनात 6,000 से अधिक सुरक्षा कर्मियों पर गर्व है.

उन्‍होंने इस बात पर दु:ख जताया क‍ि 177 वीर भारतीय सैनिकों ने सर्वोच्च बलिदान दिया है, जो संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों में सैनिकों और पुलिस का योगदान देने वाले सभी देशों में सबसे अधिक है.

Tags: United nations, United Nations General Assembly, US News, World news in hindi

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!