Friday, July 19, 2024
Homeमहाराष्ट्रअसम के भाजपा सांसद राजदीप रॉय के घर में मिला 10 वर्षीय...

असम के भाजपा सांसद राजदीप रॉय के घर में मिला 10 वर्षीय बच्चे का शव, पुलिस ने बताई मौत की वजह

गुवाहाटी: असम के सिचलर से भारतीय जनता पार्टी के सांसद राजदीप रॉय के घर में एक 10 साल के बच्चे का शव बरामद हुआ. पुलिस ने भाजपा सांसद के घर से शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए सिलचर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एसएमसीएच) भेज दिया. हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लड़के की पहचान राजदीप रॉय (बीजेपी सांसद का हमनाम) के रूप में की गई है, जो कक्षा 5 का छात्र था और उसके परिवार के अनुसार, वह कुछ वर्षों से अपनी मां और बड़ी बहन के साथ सांसद के घर पर रह रहा था.

बच्चे के परिवार के एक सदस्य ने शनिवार शाम मीडिया को बताया कि हम लोग कछार जिले के पालोंग घाट इलाके के रहने वाले हैं. लड़के की मां सांसद राजदीप रॉय के घर पर घरेलू सहायिका के रूप में काम करती हैं. अपने दो बच्चों की बेहतर शिक्षा के लिए, वह कुछ साल पहले उन्हें सिलचर ले आई थीं. घटना की सूचना मिलने के बाद भाजपा सांसद राजदीप रॉय अपने घर पहुंचे और बाद में मीडिया को बताया कि दरवाजा (जिस कमरे से शव बरामद हुआ था) अंदर से बंद था और जब पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो लड़का बेहोश पाया गया.

बच्चा मोबाइल फोन नहीं मिलने के कारण अपनी मां से नाराज था
सांसद रॉय ने मीडिया को बताया, ‘उसे पास के अस्पताल ले जाया गया और डॉक्टरों ने उसे बचाने की कोशिश की लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी. डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.’ पुलिस ने कहा कि प्रथम दृष्टया पता चलता है कि यह आत्महत्या का मामला है और उसके परिवार के सदस्यों ने भी पुलिस को बताया कि वह वीडियो गेम खेलने के लिए मोबाइल फोन नहीं मिलने के कारण अपनी मां से नाराज था. भाजपा सांसद राजदीप रॉय ने कहा, ‘उसकी मां मेरी बेटी के साथ कुछ किराने का सामान खरीदने गई और उससे पहले, लड़के ने उससे अपना मोबाइल फोन मांगा जिसे उसने देने से इनकार कर दिया. वह करीब 40 मिनट तक बाहर रहीं. जब वापस लौटीं तो पाया कि कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था.’

भाजपा सांसद ने लड़के द्वारा आत्महत्या करने पर जताया संदेह
हालांकि, राजदीप रॉय ने बच्चे की मौत के कारण पर संदेह व्यक्त किया. उन्होंने कहा, ‘हालांकि प्रारंभिक जांच से पता चल रहा है कि यह आत्महत्या का मामला हो सकता है, लेकिन मैं इसके बारे में निश्चित नहीं हूं. मैंने जिले के शीर्ष पुलिस अधिकारियों से बात की है और उनसे मामले की गहन जांच करने को कहा है.’ रॉय के मुताबिक, लड़का एक मेधावी छात्र था. सांसद ने कहा, ‘मैंने उसकी लिखावट देखी और कई बार उससे बातचीत भी की. उसे अच्छी जानकारी थी…यह मौत मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है और मेरा परिवार सदमे में है.’ पुलिस ने कहा कि उन्होंने घर का दौरा किया और हर चीज की गहनता से जांच की. एक अधिकारी ने कहा, ‘हर कोई हमारे साथ सहयोग कर रहा था और आगे की जांच चल रही है.’

Tags: Assam, Assam news

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!