Thursday, February 22, 2024
Homeमहाराष्ट्रकेरल में NIA की बड़ी कार्रवाई, PFI के सबसे बड़े 'हथियार और...

केरल में NIA की बड़ी कार्रवाई, PFI के सबसे बड़े ‘हथियार और फिजिकल ट्रेनिंग सेंटर को किया कुर्क

केरल. एनआईए ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की आतंकी गतिविधियों को लेकर एक बार फिर बड़ी कार्रवाई की है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने केरल में इस प्रतिबंधित संगठन के सबसे पुराने और सबसे बड़े हथियार और फिजिकल ट्रेनिंग सेंटर में से एक को कुर्क कर लिया है. यह छठा पीएफआई हथियार प्रशिक्षण केंद्र है और संगठन की 18वीं संपत्ति है, जिसे एनआईए ने राज्य में यूएपीए के प्रावधानों के तहत ‘आतंकवाद की आय’ के रूप में कुर्क किया है. एनआईए ने 17 मार्च 2023 को मामले (आरसी-02/2022/एनआईए/केओसी) में पीएफआई सहित 59 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था.

मामले में अपनी लगातार जांच के बाद एनआईए ने अब 10 हेक्टेयर में फैले इस प्रशिक्षण केंद्र को कुर्क किया है. सूत्रों ने कहा कि ग्रीन वैली अकादमी, मंजेरी, केरल का प्रबंधन ग्रीन वैली फाउंडेशन (जीवीएफ) द्वारा किया जाता है. इसका उपयोग राष्ट्रीय विकास मोर्चा के कैडरों द्वारा किया जाता था और बाद में पीएफआई द्वारा किया जाता था, जिसमें इसका विलय हो गया था. सूत्रों के अनुसार, पीएफआई इस संपत्ति का इस्तेमाल अपने कैडरों को हथियारों का प्रशिक्षण, शारीरिक प्रशिक्षण और विस्फोटकों के उपयोग और परीक्षण पर प्रशिक्षण देने के लिए कर रहा था, जिनकी पहचान उनकी ‘सर्विस विंग’ के हिस्से के रूप में की गई थी.

कट्टरपंथी विचारधारा को बढ़ाना पीएफआई की साजिश
इस सुविधा का उपयोग कई “पीएफआई सर्विस विंग” के सदस्यों को शरण देने के लिए भी किया गया था, जिन्होंने हत्याओं समेत कई अपराध किए थे. इस केंद्र का इस्तेमाल कथित तौर पर पीएफआई के विभाजनकारी और सांप्रदायिक एजेंडे और नीतियों में कट्टरपंथी और उग्र प्रकार के वैचारिक प्रशिक्षण को इसके प्रशिक्षित ऑपरेटिवों, कैडरों और सदस्यों को देने के लिए किया जा रहा था. पीएफआई और उसके आनुषांगिक संगठनों के कार्यालय शैक्षणिक संस्थानों की आड़ में इन परिसरों से काम कर रहे थे.

इन क्षेत्रों में चल रहे थे ट्रेनिंग सेंटर
एनआईए ने केरल में पीएफआई के जिन पांच अन्य ट्रेनिंग सेंटरों को कुर्क किया है, उनमें मालाबार हाउस, पेरियार घाटी, वल्लुवनाद हाउस, करूण्य चैरिटेबल ट्रस्ट और त्रिवेंद्रम एजुकेशन एंड सर्विस ट्रस्ट (टेस्ट) शामिल हैं. पीएफआई के 12 अन्य कार्यालयों को भी कुर्क किया गया है, जिनका इस्तेमाल संगठन के नेतृत्व द्वारा कथित तौर पर हथियारों और शारीरिक प्रशिक्षण, वैचारिक प्रचार और हत्या और आतंकवादी कृत्यों सहित विभिन्न अपराधों के लिए प्रशिक्षण आयोजित करने के लिए किया जाता था.

धार्मिक और शैक्षिक ट्रस्टों की आड़ में चल रहे सेंटर
सूत्रों ने कहा कि एनआईए की जांच से पता चला है कि पीएफआई संगठन के सदस्यों या नेताओं द्वारा गठित धर्मार्थ और शैक्षिक ट्रस्टों की आड़ में ऐसे कई प्रशिक्षण केंद्र चला रहा है. उन्होंने बताया कि जांच में यह भी पता चला है कि पीएफआई ने अपने प्रशिक्षण शिविर चलाने और आतंक एवं हिंसा से जुड़ी गतिविधियों के लिए कई इमारतों को किराए पर लिया था.

Tags: Kerala News, New Delhi news, NIA, PFI

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!