Sunday, July 14, 2024
Homeमहाराष्ट्र'दिल्ली पर कर लें बहस...' अरविंद केजरीवाल के छत्तीसगढ़ दौरे से भड़की...

‘दिल्ली पर कर लें बहस…’ अरविंद केजरीवाल के छत्तीसगढ़ दौरे से भड़की कांग्रेस, पवन खेड़ा ने दे दिया खुला चैलेंज

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में हुई चुनावी रैली राज्य की सत्ताधारी कांग्रेस को खासी नगवार गुजरी है. कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने अरविंद केजरीवाल की छत्तीसगढ़ यात्रा की आलोचना की है और उनसे दिल्ली में कांग्रेस सरकार बनाम आप सरकार के प्रदर्शन की तुलना करने की मांग की.

पवन खेड़ा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (जिसे पहले ट्विटर कहा जाता था) पर एक पोस्ट में कहा, ‘रायपुर क्यों जाएं? हमारी छत्तीसगढ़ सरकार के प्रदर्शन की तुलना पिछली रमन सिंह सरकार से की जाएगी. आइए हम अपनी पसंद का एक क्षेत्र चुनें और दिल्ली में कांग्रेस सरकार बनाम अपनी सरकार के प्रदर्शन की तुलना करें. बहस के लिए तैयार हैं?’

इसके साथ ही उन्होंने लिखा है, ‘रायपुर की उड़ान भरने से पहले ज़रा दिल्ली के धरातल पर बात कीजिए जहां पूरा शहर रसातल में जा रहा है.’

सीएम केजरीवाल ने छत्तीसगढ़ सरकार पर बोला हमला
दरअसल छत्तीसगढ़ में आगामी विधानसभा चुनाव को नजर में रखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल इन दिनों रायपुर में हैं. यहां उन्होंने छत्तीसगढ़ में सरकारी स्कूलों की स्थिति पर राज्य सरकार (कांग्रेस) की आलोचना करते हुए कहा कि यह ‘बुरे हाल’ में है.

सीएम केजरीवाल ने रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘यहां आने से पहले मैं एक रिपोर्ट पढ़ रहा था… बुरा हाल है यहां सरकारी स्कूलों का… कई स्कूलों को तो बंद कर दिया इन्होंने (सत्ताधारी कांग्रेस ने), जबकि कई ऐसे स्कूल हैं, जिसमें दस-दस क्लास हैं और केवल एक टीचर है.’

ये भी पढ़ें- मुफ्त बिजली, मुफ्त इलाज और बेरोजगारी भत्ता… CM केजरीवाल ने छत्तीसगढ़ में दी ये ‘गारंटी’, कांग्रेस पर किया प्रहार

आप प्रमुख ने इसके साथ ही कहा, ‘कई टीचर हैं, जिन बेचारों को वेतन नहीं मिला कई-कई महीनों तक… टीचर हैं, उनसे टीचिंग के अलावा सारे काम कराते हैं, कई-कई घंटों तक…’ इसके बाद उन्होंने दिल्ली के सरकारी स्कूलों का जिक्र करते हुए कहा कि वहां की स्थिति छत्तीसगढ़ के स्कूलों से काफी अलग है. उन्होंने कहा, ‘आजादी के बाद से आजतक 75 साल में पहली मेरी सरकार आई है, जिसने शिक्षा पर इतना जोर दिया है. आज, दिल्ली के सरकारी स्कूलों के नतीजे प्राइवेट स्कूलों के मुकाबले बेहतर आ रहे हैं.’

सीएम केजरीवाल ने चुनावी रैली में यह भी वादा किया कि अगर उनकी पार्टी इस साल होने वाले राज्य विधानसभा चुनावों में सत्ता में आती है तो पूरे छत्तीसगढ़ के शहरों और गांवों में चौबीसों घंटे बिजली मुहैया कराई जाएगी और लोगों को 300 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाएगी.

AAP और कांग्रेस में यहां से शुरू कलह
इससे पहले भी आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच अलका लांबा के उस बयान के बाद विवाद छिड़ गया था, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं और नेताओं को 2024 के चुनावों के लिए दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर तैयारी शुरू करने के लिए कहा है.

इस बयान के बाद AAP ने विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ से बाहर निकलने की धमकी दे दी थी. इससे कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी को सफाई देनी पड़ी कि दिल्ली में गठबंधन पर कोई बातचीत नहीं हुई है.

बता दें कि देश के पांच राज्यों- छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम – में इस साल के अंत तक चुनाव होने वाले हैं और इसके लिए सभी पार्टियां अपनी तरफ से पूरा जोर लगा रही है.

Tags: AAP, Arvind kejriwal, Congress, Raipur news

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!