Saturday, May 18, 2024
Homeमहाराष्ट्ररक्षाबंधन के लिए बेटी ने मांगा भाई...तो मां-बाप किडनैप कर लाए 1...

रक्षाबंधन के लिए बेटी ने मांगा भाई…तो मां-बाप किडनैप कर लाए 1 महीने का बच्चा, पुलिस ने CCTV से पकड़ा

नई दिल्ली: दिल्ली से अपहरण का मामला सामने आया है. पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि एक दंपति को कथित तौर पर एक महीने के लड़के का अपहरण करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. उन्होंने इस वारदात को इसलिए अंजाम दिया क्योंकि उनकी बेटी ने उनसे रक्षाबंधन त्योहार पर राखी बांधने के लिए एक भाई को मांगा था. पुलिस के मुताबिक, टैगोर गार्डन के रघुबीर नगर निवासी 41 वर्षीय संजय गुप्ता और 36 वर्षीय अनीता गुप्ता के 17 वर्षीय बेटे की पिछले साल मौत हो गई थी.

गुरुवार सुबह 4.34 बजे पुलिस को एक दिव्यांग महिला के नवजात के अपहरण की सूचना मिली. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि छत्ता रेल चौक पर फुटपाथ पर रहने वाले शिकायतकर्ता दंपति ने आरोप लगाया कि जब वे सुबह करीब तीन बजे उठे तो उन्हें पता चला कि उनका बच्चा गायब है और उन्हें संदेह है कि किसी ने उसका अपहरण कर लिया है. जांच के दौरान पुलिस ने आसपास के इलाके के सीसीटीवी कैमरे चेक किए तो बाइक सवार दो लोग इलाके में घूमते दिखे.

अधिकारी ने कहा, उन्होंने लगभग 400 सीसीटीवी कैमरों की जांच की और एलएनजेपी अस्पताल तक उनका पता लगाया. अधिकारी ने कहा, इसके बाद, पुलिस ने सभी विवरणों का विश्लेषण किया और पाया कि बाइक संजय के नाम पर पंजीकृत थी. यह क्षेत्र एक क्लस्टर और अपराध-प्रवण था. महिला स्टाफ समेत करीब 15 पुलिस कर्मियों ने हथियारों से लैस होकर इलाके की घेराबंदी कर दी. पुलिस उपायुक्त (उत्तर) सागर सिंह कलसी ने कहा, वे टैगोर गार्डन के रघुबीर नगर में सी-ब्लॉक गए जहां उन्हें आरोपी दंपति और अपहृत बच्चा मिला.

उन्होंने बताया कि संजय और अनीता ने खुलासा किया कि उनके किशोर बेटे की पिछले साल 17 अगस्त को छत से गिरने के बाद मौत हो गई थी और उनकी 15 वर्षीय बेटी आगामी रक्षा बंधन पर राखी बांधने के लिए एक भाई की मांग कर रही थी. इसलिए, उन्होंने एक लड़के का अपहरण करने का फैसला किया. कलसी ने कहा कि दंपति ने छत्ता रेल चौक के पास इस शिशु को अपनी मां से कुछ दूरी पर सोते हुए पाया और अपने बेटे के रूप में उसकी देखभाल करने के लिए उसका अपहरण कर लिया.

G20 Summit 2023: दिल्ली एयरपोर्ट पर तमाम खुफिया एजेंसियों की निगाह, सुरक्षा ऐसी की परिंदा भी ना मार सके पर

पुलिस ने बताया कि पेशे से टैटू कलाकार संजय पहले तीन आपराधिक मामलों में शामिल था, जबकि अनीता एक मेहंदी कलाकार है. शिशु की मां विकलांग है और चल नहीं सकती और उसका पिता कूड़ा बीनता है. उन्होंने कहा, वे बेघर हैं और फुटपाथ पर रहते हैं.

Tags: Delhi police, Kidnapping Case

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!