Thursday, May 23, 2024
Homeमहाराष्ट्रमॉनसून की तैयारी, बाढ़ में आई काम, दिल्‍ली मेट्रो ने ऐसे किया...

मॉनसून की तैयारी, बाढ़ में आई काम, दिल्‍ली मेट्रो ने ऐसे किया लोगों का सफर आसान

नई दिल्‍ली. दिल्‍ली-एनसीआर में आई बाढ़ के दौरान दिल्‍ली मेट्रो ने दिल्‍लीवासियों का न केवल जमकर साथ दिया है बल्कि इस मुश्किल वक्‍त में कई रिकॉर्ड भी कायम किए हैं. जगह-जगह पानी भरने के चलते जब दिल्‍ली में सड़क यातायात और परिवहन की सुविधा एकदम ठप पड़ गई तो दिल्‍ली मेट्रो ने बेहतर सहारा दिया है. हालांकि दिल्‍ली मेट्रो का कहना है कि डीएमआरसी को भी नहीं पता था कि ऐसे हालात बनेंगे लेकिन कठिन हालातों की तैयारी दिल्‍ली मेट्रो ने पहले ही कर ली थी.

डीएमआरसी की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया कि मॉनसून को लेकर की गई तैयारी बाढ़ के दौरान काफी कारगर साबित हुई है. दिल्‍ली मेट्रो ने प्री-मॉनसून की तैयारियां की थीं. जिनमें चार चीजों पर विशेष फोकस किया था. इनमें ड्रेन क्लीनिंग, रेनवाटर हार्वेस्टिंग और एलिवेटेड वायडक्ट की सफाई, वाटर वेरीयर्स लगाना और स्टेशन सुविधाओं की मरम्मत और सफाई करना शामिल है.

. ड्रेन क्‍लीनिंग
दिल्‍ली मेट्रो ने मॉनसून को देखते हुए कर्मचारियों को लगाकर सभी ड्रेनेज सिस्‍टम्‍स को साफ करवाया था. इसके लिए ड्रेन में जमी सिल्‍ट, कचरा या जो भी बारिश के पानी की निकासी में बाधा बन रहा था उसे साफ कराया था. अंडरग्राउंड टनल्‍स को भी साफ कर लिया गया था. इससे वॉटर लॉगिंग का खतरा भी कम हो गया. कई बार प्री मॉनसून ड्रिल के माध्‍यम से तैयारियों की भी जांच की गई.

. ऐलीवेटेड वायडक्‍ट और रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्‍टम की सफाई
दिल्‍ली मेट्रो ने बरसात से पहले ऐलीवेटेड वायडक्‍ट के ड्रेनेज की सफाई करने के साथ ही मरम्‍मत भी करवाई. इसके साथ ही दिल्‍ली मेट्रो के सभी स्‍टेशनों पर रेन वॉटर हार्वेस्टिंग के स्‍ट्रक्‍चर को दुरुस्‍त किया गया. ता‍कि बारिश का पानी सीधा जमीन के अंदर जा सके और पानी का संरक्षण हो सके.

. बाढ़ से बचने के लिए की तैयारी
दिल्‍ली मेट्रो ने यात्रियों की सुविधा के लिए सभी मेट्रो स्‍टेशनों में वॉटर बेरियर्स लगाए गए ताकि ज्‍यादा बारिश या बाढ़ की स्थिति में मेट्रो स्‍टेशनों के अंदर पानी न भर पाए. पिछले साल बारिश के दौरान भीकाजी कामा प्‍लेस और कश्‍मीरी गेट मेट्रो स्‍टेशन आदि के आसपास बारिश का पानी भरने के बाद मेट्रो स्‍टेशनों के अंदर पानी चला आया था, जिसकी वजह से काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थीं. ऐसे में इस साल इसकी तैयारी पहले से कर ली गई. इसके लिए दिल्‍ली मेट्रो ने सभी सिविक अथॉरिटीज से बातचीत कर ली थी.

. स्‍टेशनों की सुविधाओं की मरम्‍मत
प्री मॉनसून तैयारी के तहत दिल्‍ली मेट्रो ने लीक हो रही छतों, एक्‍केलटर या एलीवेटर्स की कमियों को ठीक करा लिया था. इसके साथ ही यात्रियों की सुविधा के लिए प्‍लेटफॉर्म, सर्कुलेटिंग इलाकों और अन्‍य सुविधाओं की भी समय से मरम्‍मत कर ली थी. इसके साथ ही सफाई और हाईजीन का विशेष ध्‍शन रखा गया था.

दिल्‍ली मेट्रो ने बनाया रिकॉर्ड
दिल्‍ली मेट्रो ने पिछले दो हफ्तों में सप्ताह के वर्किंग डेज (सोमवार से शुक्रवार) के दौरान पैसेंजर जर्नी के रूप में कई बार 60 लाख का आंकड़ा पार किया है जो कि पुराने दिनों में आम तौर पर सोमवार के दिन ही देखने को मिलता था. डीएमआरसी ने बताया कि खासतौर पर सप्ताह के आखिरी तीन दिनों (11, 12, 13 जुलाई) में ये आंकड़ा छूआ था. ये वे दिन थे जिनमें कुछ क्षेत्र जैसे कश्मीरी गेट, यमुना बैंक, मयूर विहार आदि बारिश से सबसे ज्‍यादा प्रभावित रहे हैं. पैसेंजर जर्नी का यह पैटर्न यात्रियों के बीच डीएमआरसी की विश्वसनीयता को दर्शाता है.

Tags: Delhi Metro, Delhi Metro News, Delhi Metro operations

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!