Friday, July 19, 2024
Homeमहाराष्ट्रEarthquake: राजस्थान-मणिपुर के बाद अरुणाचल प्रदेश में सुबह-सुबह डोली धरती, आया 3.3...

Earthquake: राजस्थान-मणिपुर के बाद अरुणाचल प्रदेश में सुबह-सुबह डोली धरती, आया 3.3 तीव्रता का भूकंप

हाइलाइट्स

अरुणाचल प्रदेश में महसूस किए गए भूकंप के झटके.
भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.3 रही.
फिलहाल भूकंप से किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की सूचना नहीं है.

तवांग: अरुणाचल प्रदेश (Earthquake in Arunachal Pradesh) के तवांग के पास भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. यह भूकंप (Earthquake News) शनिवार सुबह-सुबह आया है. भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.3 रही. फिलहाल भूकंप से किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है. भूकंप उस समय आया जब लोग अपने अपने घरों के अंदर सो रहे थे वहीं कुछ जागे थे.

राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र के अनुसार भूकंप का केंद्र अरुणाचल प्रदेश के तवांग से 64 किमी पूर्व-दक्षिणपूर्व (ईएसई) में था. भूकंप सुबह 6:56 बजे आया. बता दें कि कल राजस्थान से लेकर मणिपुर तक में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक घंटे में तीन बार धरती हिली और भूकंप के झटकों से सहमे लोग घरों से बाहर निकलते दिखे. शुक्रवार को मणिपुर के उखरूल में भी तड़के भूकंप के झटके महसूस किया गया, जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.5 मापी गई.

पढ़ें- Earthquake: राजस्थान से मणिपुर तक हिली धरती, जयपुर में 1 घंटे में 3 भूकंप के झटकों से हड़कंप, घरों से बाहर भागे लोग

गौरतलब हो कि इससे पहले अरुणाचल प्रदेश में 11 जून को भूकंप आया था. भूकंप के झटके सुबह 6 बजकर 34 मिनट पर महसूस किए गए थे. भूकंप अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम कामेंग जिले में आया था. रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 3.2 रही और यह 33 किलोमीटर की गहराई में था.

क्यों अकसर आता है अरुणाचल प्रदेश में भूकंप
अरुणाचल प्रदेश में अकसर भूकंप आते रहते हैं. यह भारत के उत्तरी और उत्तरपूर्वी क्षेत्र दो विशाल टेक्टोनिक प्लेटों के बीच सीमा (भ्रंश क्षेत्र) पर स्थित है. इस कारण भूकंप के लिए यह रेड जोन में है. लोग यहां अकसर भूकंप के झटके महसूस करते है.

भूकंप आने पर क्या करें
आप यदि घर के अंदर हों तो जमीन पर झुक जाए, किसी मजबूत मेज अथवा फर्नीचर के किसी हिस्से के नीचे शरण लें अथवा तब तक मजबूती से पकड़कर बैठे रहें जब तक कि भूकंप के झटके न रुक जाएं. यदि आपके पास कोई मेज या डेस्क न हो तो अपने चेहरे तथा सिर को अपने बाजुओं से ढक लें और बिल्डिंग के किसी कोने में झुक कर बैठ जाएं.

Tags: Arunachal pradesh, Earthquake, Earthquake News

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!