Thursday, February 22, 2024
Homeमहाराष्ट्रDelhi Police Home Guard Murder: पानी पर हुए विवाद में बहा खून,...

Delhi Police Home Guard Murder: पानी पर हुए विवाद में बहा खून, फरीदाबाद में दिल्ली पुलिस के होमगार्ड की हत्या

फरीदाबाद.  हरियाणा के फरीदाबाद जिले में दिल्ली पुलिस के होमगार्ड की तलवार से काटकर हत्या का मामला सामने आया है. फरीदाबाद के गढ़ खेड़ा गांव में देर शाम की यह घटना है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है. लगभग 50 वर्षीय दिल्ली पुलिस के होमगार्ड धर्मपाल ओखला थाने में तैनात थे.

धर्मपाल के बेटे दीपांशु ने बताया कि उनके घर पर कुछ निर्माण कार्य चल रहा है और पिता ने निर्माण सामग्री मंगवाई थी. पड़ोस में रहने वाले पड़ोसी पवन और अजय के बच्चे पानी के पाइप से नहा रहे थे. पानी उनके मंगाए गए क्रेशर में जा रहा था, इसलिए लिए पिता ने बच्चों को गली में नहाने रोका था. लेकिन पड़ोसी पवन और अजय ने धमकी दी थी कि उनके बच्चे यूं ही नहाएंगे, जो करना है, कर लो. इसके बाद उनके पिता धर्मपाल ने घर पर आकर उन्हें पवन और अजय के बच्चों से दूर रहने की सलाह दी थी.

देर शाम जब उसके पिता घर के बाहर खड़े थे, तभी पड़ोस में रहने वाले 2 युवक आए, जिन्होंने उनके पिता की छाती में सीधे तलवार मार दी. हमले के बाद उन्होंने उनसे तलवार छीन ली, लेकिन पवन और अजय मौके से फरार हो गए. घायल अवस्था में वह अपने पिता को लेकर के दयालपुर पहुंचे, जहां सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों ने उनके पिता को फरीदाबाद के बादशाह खान सिविल अस्पताल के लिए रेफर कर दिया. लेकिन यहां आने के बाद डॉक्टर ने उनके पिता को मृत घोषित कर दिया है.

धर्मपाल को अस्पताल लेकर पहुंचे उनके भतीजे भारत और दुष्यंत ने  बताया कि घटना के समय वह मौके पर नहीं थे और वह गांव में टहल कर आ रहे थे कि तभी उन्हें शोर-शराबा सुनाई दिया. जब भागकर मौके पर पहुंचे तो उनके चाचा धर्मपाल जमीन पर पड़े थे और काफी खून बह चुका था, जिसके बाद उन्हें जानकारी हुई कि पवन और अजय ने उन्हें तलवार मार दी है. फिर वह उनके चाचा के बेटे दीपांशु के साथ इलाज के लिए अस्पताल पहुंचे, लेकिन तब तक उनके चाचा की मौत हो चुकी थी.

पत्नी की पहले ही हो चुकी है मौत, चार बच्चे हुए अनाथ

भारत और दुष्यंत ने बताया कि उनके चाचा सरल स्वभाव के व्यक्ति थे गांव में किसी से कोई झगड़ा नहीं था. उनकी चाची शीतल का भी लगभग 14 वर्ष पहले देहांत हो चुका है और अब उनके चाचा के जाने के बाद उनकी दो बेटी सिमरन और कशिश, दो बेटे दीपांशु और हिमांशु पूरी तरह से अनाथ हो गए हैं. वे चाहते हैं कि आरोपी पवन और अजय के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए, ताकि उनके बच्चों को न्याय मिल सके.

Tags: Delhi police, Haryana police

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!