Saturday, May 18, 2024
Homeमहाराष्ट्रVideo: UPI के मुरीद हुए जर्मनी के मंत्री, सब्जी खरीदकर मोबाइल से...

Video: UPI के मुरीद हुए जर्मनी के मंत्री, सब्जी खरीदकर मोबाइल से किया पेमेंट, बोले- यह भारत की सफलता की कहानी

नई दिल्ली. जर्मनी के डिजिटल एवं परिवहन मंत्री वोल्कर विसिंग भी भारत में डिजिटल पेमेंट ऐप यानी यूनीफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) से खासे प्रभावित दिखे. दरअसल जर्मनी के मंत्री रविवार को खुद चलकर सब्जी खरीदने पहुंचे थे. उन्होंने एक छोटी सी दुकान से सब्जी खरीदी और अपने मोबाइल से UPI के जरिये पेमेंट किया.

इसे लेकर भारत में जर्मन दूतावास ने रविवार को एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर भारत के डिजिटल बुनियादी ढांचे की प्रशंसा की और इसे देश की सफलता की कहानियों में से एक बताया.

भारत में जर्मन दूतावास ने वोल्कर विसिंग के वीडियो और तस्वीरें पोस्ट कीं, जिसमें वह किराने का सामान खरीदते दिख रहे हैं और पेमेंट करने के लिए यूपीआई का इस्तेमाल कर रहे हैं. पोस्ट के कैप्शन में लिखा है, ‘भारत की सफलता की कहानी में से एक डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर है. यूपीआई हर किसी को सेकेंडभर में लेनदेन करने में सक्षम बनाता है. लाखों भारतीय इसका इस्तेमाल करते हैं. संघीय डिजिटल और परिवहन मंत्री विसिंग @Wissing यूपीआई भुगतान की सरलता का अनुभव करने में सक्षम थे और इसको लेकर बहुत आकर्षित हैं!’

वोल्कर विसिंग 19 अगस्त को जी-20 देशों के डिजिटल मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए बेंगलुरु आए हुए थे. इस पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए, सोशल मीडिया यूजर्स ने भारत की डिजिटल आर्थिक क्रांति का हिस्सा बनने के लिए उनको धन्यवाद दिया. एक यूजर ने लिखा, ‘भारत की डिजिटल आर्थिक क्रांति का हिस्सा बनने के लिए धन्यवाद. इसे शेयर करना और उपयोग करना जारी रखें.’

सोशल मीडिया पर आईं कई प्रतिक्रियाएं
एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘यह जर्मनी में जर्मन व्यापारियों और दुकानदारों के लिए एक सौगात होगा, जो केवल नकदी लेनदेन से जूझ रहे हैं. ‘यूपीआई वैश्विक हो जाता है! जर्मनी यूपीआई प्लेटफॉर्म में कब शामिल हो रहा है?’ विशेष रूप से, यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) भारत की तेज भुगतान प्रणाली है. यह ग्राहकों को तुरंत चौबीसों घंटे भुगतान करने की सुविधा प्रदान करता है. यह ग्राहक द्वारा बनाए गए वर्चुअल पेमेंट एड्रेस (वीपीए) का उपयोग करता है.

इन देशों ने की है भागीदारी
अब तक, श्रीलंका, फ्रांस, संयुक्त अरब अमीरात और सिंगापुर ने उभरते फिनटेक और भुगतान समाधानों पर भारत के साथ भागीदारी की है. इससे पहले जुलाई में, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की कि भारत और फ्रांस यूपीआई भुगतान तंत्र का उपयोग करने के लिए सहमत हुए हैं.

Tags: Germany, New Delhi news, UPI Payment, World news

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!