Thursday, February 29, 2024
Homeमहाराष्ट्रअंकित हत्याकांड: जहरीली गर्लफ्रेंड ने गिरफ्तारी के बाद किया बड़ा खुलासा, अंकित...

अंकित हत्याकांड: जहरीली गर्लफ्रेंड ने गिरफ्तारी के बाद किया बड़ा खुलासा, अंकित से करना चाहती थी शादी, लेकिन…

शैलेंद्र सिंह नेगी

हल्द्वानी. उत्तराखंड में सांप को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने के कारण चर्चा में आए हल्द्वानी का अंकित हत्याकांड के मामले में पुलिस ने  मास्टरमाइंड माही उर्फ डॉली को गिरफ्तार कर लिया है. माही के साथ ही उसका पुराना बॉयफ्रेंड दीप कांडपाल भी पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है. डीआईजी कुमाऊं नीलेश आनंद भरणे, एसएसपी नैनीताल पंकज भट्ट और सीओ सिटी हल्द्वानी भूपेंद्र सिंह धौनी ने दोनों की गिरफ्तारी का खुलासा करते हुए बताया कि पुलिस ने दोनों को रुद्रपुर से गिरफ्तार किया. दोनों ही मुख्य आरोपी 14 जुलाई को अंकित की हत्या करने के बाद से फरार चल रहे थे. हालांकि, हत्याकांड का एक आरोपी सपेरा पहले ही पुलिस की गिरफ्त में आ चुका था, जिसने पूरे हत्याकांड का खुलासा कर डाला था.

दरअसल, 15 जुलाई को पुलिस को  तीनपानी के गौलापास रोड पर एक कार के अन्दर संदिग्ध अवस्था में एक व्यक्ति के होने की  सूचना मिली थी. कार की पिछली सीट पर एक व्यक्ति अचेत अवस्था में पड़ा था, जिसकी शिनाख्त  अंकित चौहान पुत्र धर्मपाल चौहान निवासी रामबाग कालोनी, रामपुर रोड, हल्द्वानी के रुप में हुई.

मृतक अंकित की पोस्टमार्टम पंचायतनामा के पश्चात पुसिल कार्यवाही में बारीकी से निरीक्षण करने पर पाया गया कि उसके दोनों पैरों के पिछले हिस्से में दो बार सांप के काटने के सर्पदंश के निशान थे. पोस्टमार्टम में डॉक्टर द्वारा भी सर्पदंश की पुष्टि गई. इससे अंकित की मृत्यु का कारण संदेहास्पद प्रतीत होने लगा. तमाम पहलुओं की गहनता से जाँच करने के बाद अंकित चौहान की हत्या सोची समझी प्लांनिग थी. जांच में पता चला कि माही अंकित से शादी करना चाहती थी.

इसके आधार पर पुलिस ने 18 जुलाई को रमेश नाथ नाम के एक सपेरे की गिरफ्तारी की थी. नैनीताल जिले एसएसपी पंकट भट्ट के मुताबिक फरार और  मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम दिल्ली, हरियाणा, नेपाल, बिहार और राज्य के अन्य हिस्सों में सक्रिय थी. चार  फरारआरोपियों माही उर्फ डॉली, दीपू काण्डपाल, राम अवतार, ऊषा देवी पर 25,000 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था.

इस बीच माही उर्फ डॉली व दीपू काण्डपाल को पुलिस की गिरफ्त में आए. इस दौरान माही उर्फ डॉली जो प्रेमपुर लोस्ज्ञानी अपने परिवार के साथ रहती थी. वर्ष 2008 में बचपन के प्रेमी द्वारा धोखे दिये जाने से आहत होकर घर छोड़कर अलग रहने लगी. इस दौरान उसके हल्द्वानी के पूर्व में गलत धन्धा करने वाली महिलाओं के सम्पर्क में आ गई. साल 2016 में दीप काण्डपाल निवासी मोटाहल्दू से उसकी मुलाकात हुई थी. तब से दीप काण्डपाल उसका दोस्त बन गया और उसके घरेलू आदि कामों में मदद करने लगा. इस दौराने माही और दीप काण्डपाल के शारीरिक संबंध भी बन गए.

वर्ष 2017 में माही द्वारा अर्जुनपुर में प्लॉट खरीदकर अपना मकान बनाया गया. वर्ष 2020 में  हल्द्वानी के किसी जानने वाले  की मदद से उसकी मुलाकात गाड़ी खरीदने को लेकर अंकित से हुई . इस बीच अंकित व माही की दोस्ती हो गई. अंकित माही के घर आने जाने लगा और वह हर शनिवार माही के घर में ही रहता था और ये दोनो आपस में पार्टी करते थे और दोनो साथ में शराब भी पीते थे.

दोस्ती होने के बाद कुछ समय बाद अंकित माही को लेकर ज्यादा पजेसिव होने लगा और वह छोटी छोटी बात पर माही को टोकने लगा. माही के अन्य लोगों से बात करने व बाहर जाने पर रोक-टोक लगाने लगा, जिस कारण माही अपने अन्य ग्राहकों के पास नहीं जा पा रही थी और उसके आय के स्त्रोत बन्द होने लगे. इस बात को लेकर अंकित आये दिन माही के साथ शराब पीकर गाली-गलौच और मार पीट करने लगा. दोनों के बीच कई बार झगड़े हुए एवं कई बार अंकित द्वारा उसके घर में तोड़फोड़ भी की गई. अंकित की एक अन्य लड़की से दोस्ती की बात को लेकर भी माही उससे नाराज रहने लगी और अंकित के व्यवहार से उसे पता चल गया था कि वह उससे शादी नहीं करेगा. वह सिर्फ उसका उपयोग कर रहा है, जिस कारण धीरे-धीरे माही के अन्दर अंकित के प्रति द्वेश भवाना पनपने लगी.

” isDesktop=”true” id=”6992177″ >

इस दौरान माही अपने पारिवारिक समस्याओं के चलते पूजा पाठ आदि विधि विधानों विश्वास करने लगी और अपने परिचित के माध्यम से रमेश नाथ सपेरा जो सपेरे का काम भी करता था, से उसकी मुलाकात हुई. वर्ष 2022 में माही ने सपेरा के माध्यम से अपने घर में कालसर्प दोष की पूजा करी और सपेरा पूजा के लिए जंगल से साँप पकड़कर लाया था और पूजा का विधान पूरा कर साँप को जंगल में छोड़ दिया था.

फिर माही ने सपेरा रमेश नाथ से 6 महीने पहले दीक्षा ग्रहण की तब से सपेरा का उसके घर आना जाना शुरू हो गया और माही ने  के सपेरा से भी शारीरिक संबंध बन गए. एक साल पहले आर्दश नर्सरी के पास रहने वाली उषा देवी को माही ने अपने घर पर काम करने के लिए रखा था, जिस कारण उषा देवी व उसके पति रामअवतार का भी माही के घर आना जाना शुरू हो गया. अंकित द्वारा मारपीट किये जाने के कारण कभी कभी माही रामअवतार की झोपड़ी में चली जाती थी और वही रुकती थी और कभी कभी खाना खाने भी जाती थी. बाद में माही ने अंकित को खौफनाक तरीके से मरवा दिया.

Tags: Cobra snake, Haldwani news

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!