Thursday, February 22, 2024
Homeमहाराष्ट्रज्योति मौर्या PART 2: व्यापारी ने पत्नी को पढ़ाकर बनाया प्रोफेसर, अब...

ज्योति मौर्या PART 2: व्यापारी ने पत्नी को पढ़ाकर बनाया प्रोफेसर, अब आने को तैयार नहीं पत्नी, धरने पर पति

हाइलाइट्स

पीसीएस अधिकारी ज्योति मौर्य और आलोक मौर्य जैसा मामला हल्द्वानी में सामने आया.
पीड़ित पति खुद को पत्नी का सताया हुआ बताकर बताकर हल्द्वानी में धरने पर बैठ गया.
पति का आरोप है कि उसने पत्नी को पढ़ाकर प्रोफेसर बनाया, लेकिन वह बेवफा निकली.

हल्द्वानी. उत्तराखंड के हल्द्वानी से जो मामला सामने आया है इसका पूरा प्रकरण उत्तर प्रदेश की पीसीएस अधिकारी एसडीएम ज्योति मौर्या और आलोक मौर्या से मिलता जुलता है. अपनी पत्नी की बेवफाई की दुहाई देते हुए पति हल्द्वानी में धरने पर बैठ गया है. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पत्नी की मनमानी और प्रताड़ना से वह परेशान है, लेकिन ज्योति मौर्य के पति आलोक मौर्य की हिम्मत को देखने के बाद उन्होंने भी साहस जुटाया और धरने पर बैठा है.

बताया जा रहा है कि आलोक ने जैसे ज्योति मौर्या को पढ़ा-लिखाकर शादी के बाद पीसीएस की तैयारी करने के लिए मदद की, ठीक उसी तरह से हरिद्वार के व्यवसायी नितिन जैन ने भी साल 2014 में एक लड़की से शादी की. पत्नी ने शादी के बाद पढ़ाई की इच्छा जाहिर की. नितिन का दावा है कि उन्होंने पत्नी को न सिर्फ पढ़ाया बल्कि पीएचडी भी करवाई.

पीड़ित नितिन ने बताया कि पढ़ाई के दौरान नितिन और उसकी पत्नी की एक बेटी भी पैदा हो गई. साल 2018 में पत्नी की नौकरी रुद्रप्रयाग जिले में सरकारी टीचर के तौर पर लग गई. नितिन का आरोप है कि पत्नी इसी दौरान वहां किसी अन्य पुरुष के संपर्क में आ गई जिसके बाद परिवार और उससे कट-कटकर रहने लगी.

बकौल नितिन, साल 2019 में नितिन की पत्नी की पत्नी हायर एजुकेशन में असिस्सटेंट प्रोफेसर बन गई और उनकी नियुक्ति नैनीताल जिले के एक डिग्री कॉलेज में हो गई. नितिन के मुताबिक, इसके बाद पत्नी ने उनके खिलाफ मारपीट, दहेज और उत्पीड़न जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज करा दिए.

यही नहीं मेंटनेंस वो पत्नी को हर महीने पच्चीस हजार रुपये बेटी और उसके खर्च के लिए भी देता है. लेकिन इसके बावजूद पत्नी, बेटी से नहीं मिलने देती. नितिन ने पत्नी पर धमकी देने का भी आरोप लगाया है. हल्द्वानी के बुद्ध पार्क में पत्नी के खिलाफ धरने पर बैठे पीड़ित पति नितिन ने इंसाफ की मांग की है.

नितिन का दावा है कि उत्तर-प्रदेश के ज्योति मौर्या प्रकरण से उन्हें भी हिम्मत मिली है, इसलिए वो समाज से इंसाफ की गुहार लगाने के लिए हरिद्वार से हल्द्वानी चले आए हैं. हालांकि, इस पूरे मसले पर नितिन की असिस्टेंट प्रोफेसर पत्नी का पक्ष सामने आना अभी बाकी है, जो न्यायालय की शरण में हैं.

Tags: Dehradun news, Haldwani news, Uttarakhand news, Viral news

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!