Thursday, June 13, 2024
Homeमहाराष्ट्रडायबिटीज कंट्रोल करने के लिए खाते हैं करेला? न करें ये गलती,...

डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए खाते हैं करेला? न करें ये गलती, एकदम बढ़ जाएगा ब्‍लड शुगर, बता रहे डॉ. संजय

हाइलाइट्स

करेला ब्‍लड शुगर के स्‍पाइक्‍स को कम करने में मदद करता है.
करेले की सब्‍जी बनाने का तरीका इसे नुकसानदेह बना देता है.

Use of Karela in Diabetes:  डायबिटीज एक लाइफस्‍टाइल से पैदा हुई बीमारी है, ऐसे में खान-पान से लेकर नियमित दिनचर्या भी इस बीमारी के बढ़ने या रोकने के लिए जिम्‍मेदार होती है. ब्‍लड में बढ़ते शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए लोग खान-पान को लेकर भी सतर्कता बरतते हैं. कई लोग कड़वी सब्‍जी यानि करेले को भी अपनी नियमित डाइट में शामिल करते हैं, लेकिन इस दौरान वे ऐसी गलतियां कर बैठते हैं कि करेले के सेवन के बावजूद डायबिटीज नियंत्रित होने के बजाय शुगर लेवल बढ़ जाता है.

आमतौर पर सभी डायटीशियन और डॉक्‍टर भी बताते हैं कि मधुमेह यानि डायबिटीज में करेले का सेवन करने से ग्‍लाइसेमिक कंट्रोल बना रहता है. करेला भोजन के बाद रक्त शर्करा के स्पाइक्स को कम करने में सहयोग कर सकता है और ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है. चूंकि करेले में कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट कम होते हैं तो यह डायबिटीज के साथ ही वजन घटाने में भी कारगर है लेकिन जान लें कि यह नुकसान का भी कारण बन सकता है.

दिल्‍ली के जाने माने एंडोक्राइनोलॉजिस्‍ट डॉ. संजय कालरा कहते हैं कि डायबिटीज के मरीजों को एक बात समझने की बहुत जरूरत है कि जो भी चीज आप खा रहे हैं वह किस तरह से बनाई जा रही है. अगर आप कोई सब्‍जी कच्‍ची खा रहे हैं तो उसका असर अलग ढंग से होगा. वहीं अगर उसे पकाकर खा रहे हैं तो उसका असर अलग ढंग से होगा क्‍योंकि बहुत सारी चीजें उस सब्‍जी को पकाने के ढंग पर भी निर्भर करती हैं. फिर चाहे आप करेला ही क्‍यों न खा रहे हों, अगर इसे पकाने और खाने का ढंग सही नहीं है तो यह फायदे के बजाय नुकसान भी पहुंचा सकती है.

जिन सब्जियों को हम तेल या घी में डीप फ्राई या फ्राई करके खाते हैं तो वह शुगर में बहुत गड़बड़ करती हैं. अगर आप करेले को ट्रेडिशनल तरीके से फ्राई करके बनाते हैं तो इससे आपका ब्‍लड शुगर लेवल बढ़ेगा. करेले को बनाने में तेल या घी का इस्‍तेमाल ज्‍यादा होता है. इसके साथ ही इसमें मसाले भी ज्‍यादा डलते हैं. लिहाजा करेला फायदे के बजाय नुकसान पहुंचाने लगता है, जबकि आप इस भ्रम में रहते हैं कि यह सब्‍जी फायदा दे रही है.

करेले के साथ क्‍या करें
. अगर आपको करेला खाने का मन है या फिर आप कच्‍चे करेले का जूस नहीं पीना पसंद करते हैं और सब्‍जी बनाकर खाना चाहते हैं तो करेले को तेल में फ्राई करने के बजाय उसे उबाल लें. करेले को पारंपरिक तरीके से काटकर कुकर में डालें, दो सीटी लगाएं और फिर बाद में उसे निचोड़कर उसे भरवां करेला बना लें. जब आप इस करेले को मसाले के साथ बनाएंगे तो इसमें बहुत कम या जीरो तेल लगेगा. ऐसे में यह पूरी तरह फायदा पहुंचाएगा.
. करेले को छोटे टुकड़ों में काटकर नींबू के साथ मेरिनेट करके उसका सलाद खा सकते हैं या सूप भी पी सकते हैं.
. डॉ. कहते हैं कि अगर डायबिटीज है तो आप करेले का जूस पी सकते हैं.

करेले की क्‍या चीजें न खाएं
. करेले के तेल में फ्राई किए हुए चिप्‍स या स्‍नेक्‍स न खाएं.
. फ्राइड करेले न खाएं.
. करेले को ज्‍यादा तेल में बनी करी या मसाले के साथ बनाकर न खाएं.

Tags: Diabetes, Health, Trending news

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!