Friday, July 19, 2024
Homeमहाराष्ट्रIIT Admission: JEE एडवांस्ड टॉप रैंकर IIT छोड़ अब इस कॉलेज में...

IIT Admission: JEE एडवांस्ड टॉप रैंकर IIT छोड़ अब इस कॉलेज में लेंगे एडमिशन, जानें क्या है इसकी खासियत

IIT Admission: कई भारतीय छात्रों की तरह IIT का सपना संजोए कोलकाता के मोहम्मद साहिल अख्तर कक्षा 10वीं से ही संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE) की तैयारी कर रहे थे. उन्होंने स्कूल से लेकर कोचिंग क्लास तक चक्कर लगाए, हर दिन 10 घंटे से अधिक पढ़ाई की और उनका प्रयास रंग लाया. उन्हें JEE Advanced 2023 के लिए अखिल भारतीय मेरिट लिस्ट में 99वीं रैंक मिली है. लेकिन इसके बावजूद 17 वर्षीय साहिल ने JEE Admission प्रक्रिया छोड़ने का फैसला किया है, जो इस साल ऐसा करने वाले टॉप 100 JEE Advanced रैंकर्स में से एकमात्र हैं. वह IIT के बजाय मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) में जाएंगे. IIT छोड़ने के पीछे का कारण बताते हैं कि MIT में अधिक रिसर्च अवसर और फ्लेक्सिबल करिकुलम है.

साहिल कहते हैं, “मुझे टेक्निकल नौकरी से ज़्यादा रिसर्च आकर्षित करता है. भारत में भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc) एक विकल्प था. लेकिन MIT अधिक फ्लेक्सिबल प्रदान करता है. भारतीय उच्च शिक्षा प्रणाली के विपरीत मुझे पहले वर्ष में ही अपने अंतिम प्रमुख विषय पर निर्णय नहीं लेना पड़ता है. अभी भी बहुत कुछ है जो मैंने नहीं देखा है.” साहिल कंप्यूटर साइंस और फिजिक्स में डुअल पढ़ाई करना चाह रहे हैं. उन्हें एस्ट्रोनॉमी, एस्ट्रोफिजिक्स और डेटा साइंस में भी रुचि है.

ओलंपियाड के बाद IIT से मोह हुआ भंग
साहिल के लिए यह निर्णय पारंपरिक नहीं था, खासकर IIT ब्रांड को कई लोग पसंद करते थे. उन्होंने कहा, ”अपने माता-पिता को यह समझाना भी मुश्किल होता.” हालांकि, उन्होंने कहा कि रिसर्च में उनकी रुचि वर्ष 2022 में एस्ट्रोनॉमी, एस्ट्रोफिजिक्स (IOAA) में अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड में स्वर्ण पदक विजेता बने थे. आम तौर पर अधिकांश लोग IIT में सबसे अधिक मांग वाले ब्रांच कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (CSE) में एडमिशन लेते हैं. मेरे माता-पिता ने भी IIT Bombay पर विचार करने का सुझाव दिया. लेकिन जब उन्होंने जॉर्जिया में आयोजित IOAA ओलंपियाड में शामिल हुए, तो उन्हें अपने सामने उपलब्ध विभिन्न विकल्पों का एहसास हुआ, जो उनकी रुचियों के अनुकूल थे.

वह आगे बताते हैं कि अमेरिका की टीम में 10 सदस्य थे. उनमें से अधिकांश MIT में शामिल होने जा रहे थे और उन्होंने कुछ जानकारियां साझा कीं. मेरी अपनी टीम का एक सीनियर भी ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय में आवेदन कर रहा था और उसने मुझसे विदेश में इन विश्वविद्यालयों में एजुकेशन सिस्टम के बारे में बात की. मुझे दिलचस्पी हुई और मैंने विदेशी में संस्थानों में आवेदन करने की अपनी प्रक्रिया शुरू कर दी. इसके बाद उन्होंने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी प्रिंसटन यूनिवर्सिटी, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी और MIT में आवेदन किया. उन्हें मार्च में MIT का स्वीकृति पत्र प्राप्त हुआ.

साहिल ने कहा कि एडमिशन के लिए किसी प्रवेश परीक्षा या रैंक पर कोई निर्भरता नहीं थी. मैं स्टैंडर्ड एडमिशन टेस्ट (SAT) के लिए उपस्थित हुआ. लेकिन सैट स्कोर से अधिक MIT में प्रवेश संस्थान की प्रवेश समिति के मेरे आवेदन के मूल्यांकन पर आधारित था, जिसमें मेरे समग्र शैक्षणिक रिकॉर्ड, शिक्षाविदों के साथ-साथ पाठ्येतर गतिविधियों में उपलब्धियां, मेरे स्कूल के शिक्षकों के निबंध और सिफारिश पत्र शामिल थे.

ये भी पढ़ें…
आईटीबीपी में 10वीं पास के लिए नौकरी का बेहतरीन मौका, जल्द करें आवेदन
नीट यूजी काउंसलिंग के लिए आज से शुरू हो रहा आवेदन, इन डॉक्यूमेंट्स की होगी जरूरत

Tags: IIT, JEE Advance

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!