Thursday, May 23, 2024
Homeमहाराष्ट्रGehlot Vs Shekhawat : मानहानि केस में VC के जरिए पेश हुए...

Gehlot Vs Shekhawat : मानहानि केस में VC के जरिए पेश हुए अशोक गहलोत, पढ़ें कोर्ट ने क्या कहा?

हाइलाइट्स

अशोक गहलोत बनाम गजेन्द्र सिंह शेखावत
मानहानि केस में सीएम अशोक गहलोत की पेशी
इस मामले में अब अगली सुनवाई 21 अगस्त को होगी

जयपुर. केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की ओर से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ दायर आपराधिक मानहानि मामले में आज दिल्ली स्थित राउज एवेन्यु कोर्ट में सुनवाई हुई. इसमें सीएम अशोक गहलोत वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश हुए. कोर्ट ने कहा कि अशोक गहलोत को जमानत के लिए सेशन कोर्ट ने बेल बांड पर आज तक छूट दी थी. इसलिए अगली सुनवाई में सेशन कोर्ट से बेल बांड के लिए छूट लेनी होगी. राउज एवेन्यु कोर्ट में इस मामले में अगली सुनवाई 21 अगस्त को होगी. इस दौरान कोर्ट को बताया गया कि सेशन कोर्ट में 19 अगस्त को सुनवाई होनी है.

अशोक गहलोत ने बीते दिनों गजेंद्र सिंह शेखावत पर संजीवनी घोटाले में शामिल होने का आरोप लगाया था. अशोक गहलोत ने घोटाले में शेखावत के माता-पिता, पत्नी और साले की संलिप्तता की बात भी कही थी. इसके साथ ही अशोक गहलोत ने कहा था कि शेखावत ने घोटाले का पैसा दूसरे देशों में लगा रखा है. उसके बाद केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने गहलोत के खिलाफ आपराधिक मानहानि का मुकदमा दायर किया था.

मेरे जेल जाने से गरीबों का भला होता है तो मैं तैयार हूं
पेशी के बाद गहलोत ने एक बार फिर गजेंद्र सिंह शेखावत पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि डेढ़ लाख गरीबों का 1000 करोड़ डूब गया. गजेंद्र सिंह और उनके परिवार का नाम संजीवनी घोटाले में आ गया. गहलोत बोले पीड़ित परिवार मुझसे जयपुर और जोधपुर में मिलने आए तो मैं भावुक हो गया. मेरी आंखों में आंसू आ गए. गहलोत ने कहा कि मेरे खिलाफ गजेंद्र सिंह ने मानहानि का मुकदमा किया है. मेरे जेल जाने से गरीबों का भला होता है तो मैं जेल जाने को तैयार हूं. मेरी पेशी थी. पेश होकर आया हूं. मैने कोई गलती नहीं की है. पेशी नहीं होती तो आज मैं फलौदी जाता.

शेखावत के अधिवक्ता बोले- गहलोत को अब यह करना होगा
वहीं केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के वकील आदित्य विक्रम सिंह ने बताया कि सीएम अशोक गहलोत आज मानहानि मामले में अदालत में पेश हुए. अदालत ने स्पष्ट किया कि पुनरीक्षण अदालत से किसी भी आदेश के अभाव में अशोक गहलोत को अगली तारीख पर व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होना होगा. अदालत के निर्देशानुसार जमानत बांड और जमानत जमा करके जमानत लेनी होगी.

(इनपुट- लखवीर सिंह शेखावत एवं बाबूलाल धायल)

Tags: Ashok gehlot, Delhi news, Gajendra Singh Shekhawat, Jaipur news, Jodhpur News, Rajasthan news

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!