Thursday, June 13, 2024
Homeमहाराष्ट्रअब एक-एक रुपये के लिए मोहताज होंगे खालिस्तानी, विदेशी फंडिंग पर भारतीय...

अब एक-एक रुपये के लिए मोहताज होंगे खालिस्तानी, विदेशी फंडिंग पर भारतीय खुफिया एजेंसियों की नजर

नई दिल्लीः कनाडा में तेजी से पांव पसार रहे खालिस्तानी संगठनों के खिलाफ भारतीय एजेंसियां लगातार लगाम कस रही हैं. इस बीच खालिस्तानियों की विदेशी फंडिंग को लेकर भी कार्रवाई की तैयारी की जा रही है. खालिस्तानी संगठनों और इससे जुड़े एनजीओ पर बड़ा ब्रेक लगाने का फैसला किया गया है. जिन खालिस्तानी संगठनों की विदेशी फंडिंग के खिलाफ कार्रवाई की प्लानिंग की जा रही है उनमें SFJ, बब्बर खालसा इंटरनेशनल, खालिस्तान जिन्दाबाद फोर्स, खालिस्तान टाइगर फ़ोर्स के नाम शामिल हैं.

खालिस्तानियों के जरिये UK, कनाडा, USA, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस और जर्मनी से होने वाली विदेशी फंडिंग को खंगाला जाएगा. सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय जांच एजेंसी, प्रवर्तन निदेशालय, FIU और इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट मिलकर फंडिंग पर नकेल कसेंगे. सूत्रों के मुताबिक जैसे कश्मीर में अलगाववादी संगठनों और आतंकी संगठनों पर कार्रवाई हुई है, उसी तर्ज पर खालिस्तानी संगठनों, इससे जुड़े एनजीओ और खालिस्तानी आतंकियो पर कार्रवाई होगी. खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक खालिस्तानी संगठन विदेशों से मिलने वाली फंडिंग का इस्तेमाल देश के युवाओं को भड़काने में कर रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक विदेशों से होने वाली फंडिंग हवाला के सभी रूट्स को खंगाला जाएगा.

यह भी पढ़ेंः खालिस्‍तान और पाकिस्तान की भारत विरोधी साजिशों का अड्डा कैसे बना कनाडा? कहां से और कैसे होती है फंडिंग

बता दें कि हाल ही में एक रिपोर्ट सामने आई थी, जिसमें खुलासा किया गया था कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई खालिस्तानियों को फंडिंग कर रहा है. वहीं इमिग्रेशन के नाम पर खालिस्तानी भारत से कनाड़ा पढ़ने गए छात्रों से मोटी रकम वसूलते हैं और उसका इस्तेमाल भी भारत विरोधी एजेंडे में करते हैं. कनाडा में चार बड़े खालिस्तानी आतंकी संगठन हैं. इसमें वर्ल्ड सिख ऑर्गनाइजेशन, खालिस्तान टाइगर फोर्स, सिख फॉर जस्टिस और बब्बर खालसा इंटरनेशनल शामिल हैं. ये सभी पाकिस्तान के इशारे पर भारत विरोधी एजेंडा चलाते रहते हैं. इन्हें पाकिस्तान से फंडिंग भी मिलती है.

Tags: Canada, Khalistan, NIA

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!