Thursday, May 23, 2024
Homeमहाराष्ट्र'मुस्लिम पक्ष को अपनी ऐतिहासिक गलती स्वीकार करनी चाहिए...' ज्ञानवापी विवाद पर...

‘मुस्लिम पक्ष को अपनी ऐतिहासिक गलती स्वीकार करनी चाहिए…’ ज्ञानवापी विवाद पर बोले सीएम योगी आदित्यनाथ

लखनऊ/ उत्तर प्रदेश. वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर पर विवाद के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ज्ञानवापी परिसर को मस्जिद नहीं कहा जा सकता है. समाचार एजेंसी से बातचीत में सीएम योगी ने कहा, ‘आप इतिहास को तोड़-मरोड़ सकते हैं, लेकिन ऐतिहासिक सबूतों को नहीं.’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मुस्लिम पक्ष को अपनी ‘ऐतिहासिक गलती’ को स्वीकार करना चाहिए और समाधान के लिए प्रस्ताव देना चाहिए.

सीएम योगी ने कहा, ‘अगर हम इसे मस्जिद कहते हैं, तो विवाद होगा. हमें इसे ज्ञानवापी ही कहना चाहिए. मुझे लगता है कि जिसे भगवान ने दृष्टि दी है उसे देखना चाहिए. एक त्रिशूल एक मस्जिद के अंदर क्या कर रहा है? हमने इसे वहां नहीं रखा. अंदर सुरक्षा है, वहां केंद्रीय बल हैं, वहां एक ज्योतिर्लिंग, देव प्रतिमाएं (मूर्तियां) हैं.’ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मस्जिद के अंदर भौतिक, शास्त्रीय और अन्य पुरातात्विक साक्ष्यों को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए.

‘इतिहास को तोड़-मरोड़ सकते हैं, लेकिन सबूतों को नहीं’
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘आप इतिहास को तोड़-मरोड़ सकते हैं, लेकिन ऐतिहासिक सबूतों को नहीं. परिसर के अंदर देवताओं के प्रतीक हैं. दीवारें चिल्ला रही हैं और कह रही हैं और मेरा मानना है कि यह प्रस्ताव मुस्लिम समुदाय की ओर से आना चाहिए जो यह स्वीकार करते हैं कि एक ऐतिहासिक गलती हुई है, और हमारा मानना है कि गलती को ठीक किया जाना चाहिए.’


कोर्ट में चल रहा है मामला

उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ‘वुज़ुखाना’ (फव्वारा) को छोड़कर, मस्जिद परिसर के अंदर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा सर्वेक्षण के लिए निचली अदालत के आदेश के खिलाफ एक याचिका पर फैसला देगा. याचिका पर 3 अगस्त को फैसला आने की संभावना है. यह मामला तब केंद्र में आया जब पिछले साल 16 मई को अदालत द्वारा आदेशित सर्वेक्षण के दौरान, मस्जिद परिसर में हिंदू पक्ष द्वारा “शिवलिंग” और मुस्लिम पक्ष द्वारा “फव्वारा” होने का दावा किया गया एक ढांचा पाया गया.

सीएम योगी बोले जो दूसरों को कांटे बोते हैं वह…
इस बीच इंटरव्यू में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि वह मुस्लिम समुदाय से अपील करेंगे कि ‘आज हमें विकास के बारे में बात करनी चाहिए. हम सब पाकिस्तान की दुर्दशा देख सकते हैं. जो लोग दूसरों के लिए कांटे बोते हैं, वे खुद ही दर्द सहेंगे. आज पाकिस्तान में जो कुछ भी हो रहा है, वह उनके बोए हुए का परिणाम है. आज पाकिस्तान भूख से त्रस्त है और अपने कुकर्मों से जूझ रहा है.’

Tags: CM Yogi Aditya Nath, Gyanvapi controversy, Lucknow news, Uttar pradesh cm, Varanasi news

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!