Thursday, February 29, 2024
Homeमहाराष्ट्रमणिपुर हिंसा: तो सामने नहीं आता महिलाओं का दर्द! VIDEO डिलीट करने...

मणिपुर हिंसा: तो सामने नहीं आता महिलाओं का दर्द! VIDEO डिलीट करने की हुई थी कोशिश, मगर…ऐसे हुआ वायरल

नई दिल्ली. मणिपुर में कथित तौर पर दो महिलाओं के साथ हुए यौन उत्पीड़न मामले ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया. इस घटना का विरोध देशभर में हो रहा है. वहीं अब इस घटना से जुड़ी एक नई जानकारी सामने आई है, जो बेहद हैरान कर देने वाली है. यौन उत्पीड़न का वीडियो वायरल होने से पहले, मणिपुर संगठन ने वीडियो को दबाने का प्रयास किया था. 4 मई को मणिपुर में तीन कुकी-जोमी महिलाओं को निर्वस्त्र करने और उनके साथ यौन उत्पीड़न करने का वीडियो वायरल होने से पहले, युमलेम्बम जिबन को पकड़ने के लिए ठोस प्रयास किए गए थे. जिबन के फोन में ही उस भयावह घटना का वीडियो रिकॉर्ड था.

जिबान ने अपने फोन में घटना का बनाया था वीडियो
इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक 18 वर्षीय जिस व्यक्ति ने इसे अपने फोन से डिलीट करने के लिए वीडियो शूट किया था. जिबान उन सात लोगों में से एक है जिन्हें मणिपुर थौबल जिले में तीन महिलाओं के साथ मारपीट के मामले में मणिपुर पुलिस ने अब तक गिरफ्तार किया है. उन्हें तीन अन्य लोगों के साथ सोमवार को विशेष न्यायाधीश थौबल की अदालत में पेश किया गया. जिबान के थौबल जिले के नोंगपोक सेकमाई अवांग लीकाई गांव के एक रिश्तेदार के अनुसार, गांव के वरिष्ठ लोगों को पता था कि उसने वीडियो शूट किया था और यह उसके फोन पर था.

यह भी पढ़ेंः किसी ने हमारा यकीन नहीं किया, भगवान ने ही VIDEO वायरल किया होगा: पत्नी को निर्वस्त्र कर परेड कराने पर छलका कारगिल योद्धा का दर्द

युवक ने अपने चचेरे भाई को भेजा और फिर उसने अपने दोस्त को भेजा वीडियो
गांव के वरिष्ठ लोगों ने उसे कई बार वीडियो हटाने की सलाह दी और वह हमसे कहता रहा कि वह ऐसा करेगा. लेकिन उसने इसे अपने चचेरे भाई को भेजा, जिसने इसे दूसरे दोस्त को भेजा. मुझे लगता है कि उस व्यक्ति से (मैतेई कट्टरपंथी समूह) अरामबाई तेंगगोल को इसके बारे में पता चला. वे जून में किसी समय गांव आये और गांव के अधिकारियों और सभी आम लोगों के साथ एक बैठक हुई. रिश्तेदार ने कहा, हम सभी ने अपने फोन अरामबाई तेंगगोल लोगों को सौंप दिए, जिन्होंने उनकी जांच की और उसके (जिबन) डिवाइस से वीडियो हटा दिया गया.

पुलिस ने कई लोगों को किया गिरफ्तार
पुलिस ने जिबान के चचेरे भाई 19 वर्षीय युमलेम्बम नुंगसिथौ को भी गिरफ्तार कर लिया है, जिसे उसने वीडियो भेजा था. जहां जिबान थौबल कॉलेज में प्रथम सेमेस्टर का छात्र है, वहीं नुंगसिथोई एक मैकेनिक की दुकान में काम करता था. दोनों किसान के बेटे हैं. मामले के सिलसिले में गिरफ्तार किए गए अन्य लोगों में एक सेवानिवृत्त सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल का बेटा, एक टायर की दुकान में काम करने वाला और एक दिहाड़ी मजदूर शामिल है.

Tags: Manipur News

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!