Friday, July 19, 2024
Homeमहाराष्ट्रमेघालय: सीएम ऑफिस पर भीड़ ने किया हमला, जमकर पथराव, झड़प में...

मेघालय: सीएम ऑफिस पर भीड़ ने किया हमला, जमकर पथराव, झड़प में 5 सुरक्षाकर्मी घायल

मेघालय. मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा के कार्यालय पर सोमवार को सैकड़ों आक्रोशित लोगों ने घेराव कर दिया. इस दौरान प्रदर्शनकारी और सुरक्षाकर्मियों के बीच झड़प हो गई, जिसमें कम से कम पांच सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं. सीएम संगमा घटना के वक्त परिसर के अंदर ही मौजूद थे. हालांकि वह पूरी तरह से सुरक्षित हैं और सुरक्षा चिंताओं के कारण घर के अंदर ही हैं.

दरअसल मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा ACHIK, GHSMC सहित विभिन्न प्रदर्शनकारी नागरिक निकायों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक कर रहे थे. सीएम ऑफिस में तीन घंटे से अधिक समय तक उनके बीच चर्चा चली. इस बीच, परिसर के बाहर भारी संख्या में भीड़ जमा हो गई और नारेबाजी शुरू कर की. उग्र भीड़ ने इस दौरान पथराव भी किया और सीएम ऑफिस की खिड़कियां भी तोड़ दी.

वहीं पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में वहां एकत्रित भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे. इस झड़प में अब तक कम से कम पांच सुरक्षाकर्मी घायल हो चुके हैं. वहीं मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक टिप्पणी में कहा, हालात को नियंत्रण में कर लिया गया है, लेकिन स्थिति ‘बहुत तनावपूर्ण’ बनी हुई है.

सीएम ऑफिस के जनसंपर्क अधिकारी ने कहा, ‘मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा गारो-हिल्स स्थित आंदोलनकारी संगठनों के साथ चर्चा कर रहे थे, जो तुरा में शीतकालीन राजधानी के लिए भूख हड़ताल पर हैं. इस बीच, तुरा में सीएमओ पर भीड़ (आंदोलनकारी समूहों से अलग) एकत्र हो गई और पथराव शुरू कर दिया. पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे. 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए. सीएम और पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग (पीएचई) मंत्री सीएमओ तुरा में मामले की निगरानी कर रहे हैं.’

तुरा शहर में तत्काल प्रभाव से रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू कर दिया गया है. वहीं मुख्यमंत्री ने घायलों के लिए 50-50 हजार रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की है और कहा है कि उनके इलाज पर आने वाले खर्च को राज्य सरकार वहन करेगी.

नागरिक निकायों ने प्रदर्शनकारियों से खुद को किया अलग
इस बीच मुख्यमंत्री के साथ बैठक कर रहे नागरिक निकायों के सदस्यों ने खुद को इस हमले से दूर कर लिया है. उन्होंने कहा कि भीड़ में शामिल लोग उनके नहीं हैं और उनका इस हमले से कोई लेना-देना नहीं है.

वहीं पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रदर्शनकारी तुरा को शीतकालीन राजधानी बनाने की मांग कर रहे थे तभी बड़ी संख्या में बाहरी लोग उनके साथ आकर मिल गए और कार्यालय पर पत्थरबाजी शुरू कर दी. अधिकारियों ने बताया कि घटना की वीडियो फुटेज देखी जाएगी और दोषियों की पहचान की जाएगी.

Tags: Konrad Sangma, Meghalaya news, Meghalayal CM

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!