Saturday, May 18, 2024
Homeमहाराष्ट्रमणिपुर हिंसा, कश्मीर, आतंकवाद और भ्रष्टाचार... अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में गृह...

मणिपुर हिंसा, कश्मीर, आतंकवाद और भ्रष्टाचार… अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में गृह मंत्री अमित शाह की 10 खास बातें

नई दिल्ली. लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि यह अविश्वास प्रस्ताव सिर्फ भ्रम पैदा करने के लिए लाया गया है. उन्होंने कहा, ‘यह अविश्वास प्रस्ताव देश में विपक्ष का असली चरित्र दिखाएगा और संप्रग (यूपीए) का चरित्र अपनी सरकार बचाने के लिए भ्रष्टाचार करना है.’

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘आजादी के बाद पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार ही ऐसी है जिसने सबसे ज्यादा लोगों का भरोसा जीता. पीएम मोदी जनता के बीच सबसे लोकप्रिय नेता हैं… पीएम मोदी देश की जनता के लिए अथक प्रयास करते हैं. वह बिना एक भी छुट्टी लिए दिन में लगातार 17 घंटे काम करते हैं. लोग उन पर भरोसा करते हैं.’

केंद्रीय मंत्री ने आर्थिक मोर्चे पर देश की सफलता का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, ‘हमारी सरकार ने पिछले 9 साल में देश की अर्थव्यस्था को 11वें नंबर से 5वें नंबर पर पहुंचाने का काम किया है. मुझे पूर्ण भरोसा है कि नरेंद्र मोदी फिर देश के प्रधानमंत्री बनेंगे और देखते-देखते 2027 तक देश दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा अर्थतंत्र बन जाएगा.’

अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के संबोधन के मुख्य अंश:

यूपीए कहती रहती है कि वे किसानों का कर्ज माफ कर देंगे. हम सिर्फ कर्ज माफ करने में विश्वास नहीं रखते, बल्कि ऐसी व्यवस्था बनाने में विश्वास रखते हैं, जहां किसी को कर्ज लेना ही न पड़े. हमने किसानों को जो दिया है वह मुफ्त नहीं है, बल्कि हमने उन्हें आत्मनिर्भर बनाया है.

पीएम मोदी सरकार ने कुछ ऐतिहासिक फैसले लिए और वंशवाद एवं भ्रष्टाचार को खत्म किया. यूपीए का चरित्र सत्ता की रक्षा करना है, लेकिन एनडीए सिद्धांत की रक्षा के लिए लड़ता है.’

यह समझना होगा कि वे (UPA) जनधन योजना का विरोध क्यों कर रहे थे? पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने कहा था कि जब केंद्र से 1 रुपया भेजा जाता है, तो लाभार्थी तक केवल 15 पैसे ही पहुंचते हैं… लेकिन आज, आज पूरी राशि गरीबों तक पहुंचती है.

इस सदन में एक ऐसे नेता हैं जिन्हें 13 बार लॉन्च किया गया और 13 ही बार विफल रहे. उनका एक लॉन्च मैंने भी देखा जब वे बुंदेलखंड की महिला कलावती से मिलने गए थे, लेकिन उन्होंने कलावती के लिए क्या किया? कलावती को घर, बिजली, गैस आदि देने का काम नरेंद्र मोदी की सरकार ने किया.

हमने देश में पीएफआई पर प्रतिबंध लगाया और देश में 90 से अधिक स्थानों पर छापे मारे. लंदन, ओटावा और सैन फ्रांसिस्को में हमारे दूतावसों पर हमलों से संबंधित मामले एनआईए को सौंप दिए गए. 26/11 के आरोपी तहव्वुर हुसैन राणा को भी जल्द ही भारत में न्यायपालिका का सामना करना पड़ेगा.

मोदी सरकार ने कश्मीर को आतंकवाद से पूरी तरह मुक्त कराने के लिए लगातार काम किया है. हम हुर्रियत, जमीयत और पाकिस्तान से नहीं, बल्कि कश्मीर घाटी के युवाओं से बात करेंगे.

आतंकवाद और नक्सलवाद पर अंकुश लगाने के लिए मोदी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में नक्सली अब सिर्फ 3 जिलों तक ही सीमित रह गए हैं.

मणिपुर में हिंसा पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘मैं मानता हूं कि मणिपुर में हिंसा की घटनाएं हुई हैं. ऐसी घटनाओं का कोई भी समर्थन नहीं कर सकता. इन घटनाओं पर राजनीति करना शर्मनाक है. मैं पहले दिन से ही मणिपुर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार था, लेकिन विपक्ष कभी चर्चा नहीं करना चाहता था…आप मुझे चुप नहीं करा सकते क्योंकि 130 करोड़ लोगों ने हमें चुना है, इसलिए उन्हें हमारी बात सुननी होगी. मणिपुर में हमारी सरकार के पिछले छह वर्षों के दौरान कर्फ्यू की आवश्यकता कभी नहीं पड़ी.’

ये वीडियो (मणिपुर वायरल वीडियो) इस संसद सत्र के शुरू होने से पहले क्यों आया? अगर किसी के पास यह वीडियो था तो उन्हें इसे डीजीपी को देना चाहिए था और उसी दिन (4 मई) कार्रवाई की गई होती। हमें जिस दिन वीडियो मिला हमने उन सभी 9 लोगों की पहचान कर ली और उन्हें गिरफ्तार कर लिया. मैं वहां (मणिपुर) 3 दिन रहा और इस अवधि के दौरान हमने कई निर्णय लिए… राज्य में सामान्य स्थिति स्थापित करने के लिए क्षेत्र में अर्धसैनिक बल तैनात किया गया है.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘यूपीए अच्छा नाम था… उन्हें गठबंधन का नाम बदलने की जरूरत क्यों पड़ी? यूपीए 12 लाख करोड़ रुपए से अधिक के घोटालों में शामिल थी… बोफोर्स घोटाला, 2जी स्पेक्ट्रम घोटाला, सीडब्ल्यूजी घोटाला, कोयला घोटाला, आदर्श घोटाला, नेशनल हेराल्ड घोटाला, वाड्रा का डीएलएफ घोटाला, चारा घोटाला… उनके पास गठबंधन का नाम बदलने के अलावा कोई रास्ता नहीं है. हमें अपना नाम बदलने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि हम किसी घोटाले में शामिल नहीं हैं. एनडीए सरकार ने देश को एक स्थिर सरकार दी है.’

.

FIRST PUBLISHED : August 09, 2023, 20:26 IST

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!