Saturday, May 18, 2024
Homeमहाराष्ट्रOpinion: मोदी सरकार में लोगों को मिल रहा है गरीबी से छुटकारा,...

Opinion: मोदी सरकार में लोगों को मिल रहा है गरीबी से छुटकारा, 9 सालो में औसत आय हुई दोगुनी

अनूप कुमार

नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आर्थिक नीतियों का अब असर दिखने लगा है. भारत में लगातार मजबूत हो रही आर्थिक स्थिति का असर देश के नागरिकों की औसत आय में वृद्धि के रूप में भी देखने को मिल रहा है. गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले नागरिक मध्यम वर्ग की श्रेणी में और मध्यम वर्ग की श्रेणी के नागरिक उच्च वर्ग की श्रेणी में स्थानांतरित हो रहे हैं. मोदी सरकार 2014 के बाद जिस तरीके से आम लोगो के आर्थिक स्तर में सुधार लाने के लिए जो नीतियां और योजनाएं लेकर आ रही है, उसका लाभ अब आम नागरिकों की आय में वृद्धि के रूप में दिखाई देने लगा है, जिसके चलते निम्न आय की श्रेणी के नागरिक उच्च आय की श्रेणी में शामिल हो रहे हैं.

मोदी सरकार द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न आर्थिक कार्यक्रमों जैसे ‘स्किल इंडिया’ आदि के चलते प्रति व्यक्ति आय में उक्त वृद्धि होने जा रही है. साथ ही, भारत के लिए कई नए क्षेत्रों जैसे ‘आर्टिफिशियल इंटेलिजेन्स’, ‘इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल्स’, ‘स्पेस टेक्नोलॉजी’ डिफेन्स के क्षेत्र, आदि में अपार संभावनाएं मौजूद हैं और इन क्षेत्रों में भारत का दबदबा बढ़ने की संभावनाएं हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों खुद नीति आयोग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि पांच साल में 13.50 करोड़ भारतीय बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) श्रेणी से बाहर आ गए हैं. उन्होंने कहा कि आंकड़ों से पता चलता है कि बड़ी संख्या में लोग कर चुका रहे हैं. यह सरकार में उनके विश्वास को दर्शाता है कि उनके पैसे का अच्छा उपयोग किया जा रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि आंकड़ों से पता चलता है कि सभी क्षेत्रों को ताकत मिल रही है और रोजगार के अवसर पैदा हो रहे हैं. नागरिकों का विश्वास बढ़ रहा है. वे इस विश्वास के साथ अपना कर जमा करने आ रहे हैं कि उनका हर पैसा देश के विकास पर खर्च होगा. उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था 2014 में विश्व में 10वें स्थान से अब 5वें स्थान पर पहुंच गई है.

लोगो की आय हुई दोगुनी
राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के सत्ता में आने के बाद प्रति व्यक्ति की कमाई दोगुनी होकर 1,72,000 रुपये हो गई है. साल 2014-15 में भारत में प्रति व्यक्ति की सालाना आय 86,647 रुपये थी. इसके अनुसार, पिछले 9 साल में प्रति व्यक्ति की आय में 99 फीसदी का इजाफा हुआ है. वहीं, इस दौरान वास्तविक मूल्य (स्थिर दाम) पर प्रति व्यक्ति की आय 35 फीसदी बढ़ी है.

यह भी पढ़ें:- Chandrayaan-3: लूना-25 से सबक और कछुए जैसी चाल…फिर ऐसे चांद पर होगा चंद्रयान-3, जानें भारत आज कैसे रचेगा इतिहास

भारतीय स्टेट बैंक की रिपोर्ट
भारतीय स्टेट बैंक के आर्थिक अनुसंधान विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 से संबंधित ITR फाइल करने वालों के आंकड़ों का एक विशेष अध्ययन किया गया है. इस संदर्भ में जारी किए गए एक निष्कर्ष के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2022-23 से सम्बंधित ITR दाखिल करने वालो की संख्या रिकॉर्ड स्तर 7 करोड़ तक पहुंच गई है. यहां तक कि वित्तीय वर्ष 2046-47 के लिए अनुमान लगाया गया है कि भारत में 48.2 करोड़ नागरिक ITR फाइल कर रहे होंगे.

यह भी पढ़ें:- चंद्रयान-3 के बाद अब भारत का ‘दोस्त’ भी भेजने जा रहा ‘मून मिशन’, जानें कब है लॉन्चिंग, क्या है मकसद?

वित्तीय वर्ष 2012 से वित्तीय वर्ष 2023 के बीच निम्न स्तर की आय दर्शाने वाले नागरिकों में से 13.6 प्रतिशत नागरिक मध्यम श्रेणी की आय दर्शाने वाली श्रेणी में शामिल हो गए हैं जबकि वित्तीय वर्ष 2024 से वित्तीय वर्ष 2047 के बीच निम्न स्तर की आय दर्शाने वाले नागरिकों में से 25 प्रतिशत नागरिक मध्यम श्रेणी की आय दर्शाने वाली श्रेणी में शामिल हो जाएंगे. वित्तीय वर्ष 2014 में ITR दाखिल करने वाले नागरिकों की औसत आय 4.4 लाख रुपए थी जो वित्तीय वर्ष 2023 में तीन गुना से भी अधिक बढ़कर 13 लाख रुपए हो गई है एवं वित्तीय वर्ष 2047 में और अधिक बढ़कर 49.7 लाख रुपए हो जाएगी.

दूसरे, ITR दाखिल करने वाले नागरिकों की संख्या लगातार बढ़ रही है. एक अनुमान के अनुसार, देश में ITR दाखिल करने योग्य नागरिकों में से केवल 22.4 प्रतिशत नागरिक ही आय कर विवरणियां दाखिल कर रहे हैं जबकि वित्तीय वर्ष 2047 में यह संख्या बढ़कर 85.3 प्रतिशत होने जा रही है. वित्तीय वर्ष 2023 में भारत में प्रति व्यक्ति आय 2 लाख रुपए प्रतिवर्ष (2500 अमेरिकी डॉलर) आंकी गई है जबकि एक अनुमान के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2047 में यह बढ़कर 14.9 लाख रुपए प्रतिवर्ष (12,400 अमेरिकी डॉलर) होने जा रही है.

Tags: Hindi news, Income tax, Pm narendra modi

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!