Thursday, February 29, 2024
Homeमहाराष्ट्र'मैं और मेरे बच्चे भारत के लिए बोझ नहीं बनेंगे' : पाकिस्तान...

‘मैं और मेरे बच्चे भारत के लिए बोझ नहीं बनेंगे’ : पाकिस्तान की सीमा हैदर हुईं बीमार, चढ़ाया जा रहा ग्लूकोज

नई दिल्ली. भारतीय ‘पति’ सचिन मीना के लिए बिना वीजा के मई में भारत में प्रवेश करने वाली पाकिस्तानी महिला सीमा हैदर उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) द्वारा हाल ही में की गई पूछताछ के बाद शनिवार सुबह बीमार पड़ गई. सीमा हैदर ने एक दिन पहले ही शुक्रवार को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के पास दया याचिका दायर कर अनुरोध किया है कि उसे अपने चार बच्चों के साथ ग्रेटर नोएडा में अपने साथी सचिन मीना के साथ रहने की अनुमति दी जाए.

उच्चतम न्यायालय के वकील ए पी सिंह द्वारा सीमा की ओर से दायर याचिका शुक्रवार को राष्ट्रपति सचिवालय को प्राप्त हुई. याचिका में सीमा (30) ने कहा है कि वह ग्रेटर नोएडा में रहने वाले सचिन (22) से प्यार करती है और वह उसके साथ रहने के लिए भारत आई. पाकिस्तानी नागरिक का दावा है कि उसने हिंदू धर्म अपना लिया है और नेपाल के काठमांडू में पशुपतिनाथ मंदिर में हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार मीणा से शादी कर ली है.

…तो जासूसी मदद से सीमा हैदर ने पार किया बॉर्डर? नेपाली अधिकारी का बड़ा दावा, बोले- होनी चाहिए जांच

सीमा ने कहा है, ‘माननीय मैडम, याचिकाकर्ता को एक प्यारे पति के रूप में सचिन मीणा, पिता समान ससुर, मां के समान सास के साथ शांति, प्यार और खुशी मिली है जो याचिकाकर्ता को पहले कभी नहीं मिली थी. याचिकाकर्ता आपसे अनुरोध करती है कि आप उस पर विश्वास करें और एक ऐसी महिला के प्रति दया दिखाएं, जो उच्च शिक्षित नहीं है.’

सीमा ने याचिका में कहा है, ‘यदि आप दया दिखाती हैं तो याचिकाकर्ता अपना शेष जीवन अपने पति, चार नाबालिग बच्चों और ससुराल के रिश्तेदारों के साथ बिताएगी. याचिकाकर्ता आभारी होगी कि आपने उसे मौका दिया और आप उसकी ताकत तथा समर्थन का स्रोत बन सकती हैं. याचिकाकर्ता अंततः भारत में सम्मान के साथ जीवन जीने में सक्षम होगी.’

इस बीच, शनिवार को एक वीडियो सामने आया, जिसमें सीमा बीमार दिख रही है और ‘ग्लूकोज ड्रिप’ ले रही है. आमतौर पर निर्जलीकरण या निम्न रक्त शर्करा के स्तर से पीड़ित व्यक्तियों को ‘ग्लूकोज ड्रिप’ दी जाती है.

सीमा हैदर ने कराई मुल्क की फजीहत, खतरे में सिंध की औरतें- पाकिस्तान की टॉप हिन्दू वकील का फूटा गुस्सा

एक हिंदी न्यूज पोर्टल को दिए इंटरव्यू में सीमा हैदर ने दावा किया कि अपने खिलाफ खबरें सुनने के बाद वह बीमार पड़ गईं. उन्होंने कहा, ‘इससे दुख भी होता है कि लोग मेरे बारे में गलत क्यों बोल रहे हैं. किसी ने एक बार भी मेरे बारे में अच्छा नहीं बोला.’ हैदर ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि मैं और मेरे चार बच्चे भारत पर कोई बोझ बढ़ाएंगे. अगर मुझे नागरिकता मिल गई तो मैं एक अच्छा इंसान बनकर दिखाऊंगी. मैं विश्वासघात नहीं करूंगी.’

पाकिस्तान के सिंध प्रांत की रहने वाली सीमा का कहना है कि वह 2019-20 में ऑनलाइन गेम पबजी खेलते समय सचिन के संपर्क में आई और दोनों के बीच व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम पर बातचीत होने लगी. सीमा 13 मई को नेपाल के रास्ते एक बस में अपने चार बच्चों के साथ अवैध रूप से भारत में दाखिल हुई थी. उसका कहना है कि वह ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा इलाके में रहने वाले सचिन के साथ रहने आई थी.

चार जुलाई को स्थानीय पुलिस ने सीमा को अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने के आरोप में गिरफ्तार किया था और मीना को अवैध अप्रवासियों को शरण देने के लिए गिरफ्तार किया गया था. हालांकि, उन दोनों को सात जुलाई को एक स्थानीय अदालत ने जमानत दे दी थी और वे अपने चार बच्चों के साथ रबूपुरा के एक घर में रह रहे हैं.

यह याचिका ऐसे वक्त आई है जब नोएडा पुलिस भारत में उसके अवैध प्रवास के मामले की जांच कर रही है, जबकि उत्तर प्रदेश पुलिस के आतंकवाद रोधी दस्ते ने इस सप्ताह की शुरुआत में सीमा-सचिन से दो दिन तक पूछताछ की थी. सीमा ने कहा है कि वह पाकिस्तान वापस नहीं जाना चाहती और सचिन के साथ रहना चाहती है. उसने यह भी दावा किया कि उसने हिंदू धर्म अपना लिया है.

पाकिस्तानी मीडिया की खबरों में कहा गया है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों के अनुसार चार बच्चों की मां सीमा ‘प्यार’ के कारण ही हिंदू व्यक्ति के साथ रहने के लिए भारत में घुसी, जिससे उसकी दोस्ती एक ऑनलाइन गेम प्लेटफॉर्म के माध्यम से हुई थी.

(इनपुट पीटीआई से भी)

Tags: ATS, Pakistan, Seema Haider

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!