Monday, May 20, 2024
Homeमहाराष्ट्रअगर इन नंबरों से कॉल आए तो छात्र हो जाएं सावधान... पाकिस्तान...

अगर इन नंबरों से कॉल आए तो छात्र हो जाएं सावधान… पाकिस्तान से हो रहा है साइबर अटैक, सेना ने किया अलर्ट

नई दिल्ली. भारतीय सेना ने स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए साइबर सुरक्षा खतरे को लेकर चेतावनी जारी की है. यह साइबर हमला पाकिस्तान से हो रहा है. मीडिया में रिपोर्ट आने के बाद यह बात सामने आई है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंट सेना के स्कूल के छात्रों से जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहे थे.

यह खुफिया एजेंट छात्रों से उनके माता-पिता से जुड़ी जानकारी मांग रहे थे और वॉट्सऐप ग्रुप में शामिल होने के लिए सवाल भी पूछ रहे थे. रिपोर्ट में बताया गया है कि सेना ने कहा था कि बीते कल से देश भर के छात्रों के पास पाकिस्तानी खुफिया संचालक(एजेंट) की ओर से वॉटसऐप मैसेज और कॉल आ रही हैं.

दो नंबरों से आ रही हैं कॉल
सूत्रों का हवाला देते हुए, हिंदुस्तान टाइम्स ने बताया, “सोमवार से, छात्रों को दो नंबरों से पाकिस्तानी खुफिया एजेंटों से कॉल और वॉटसऐप संदेश मिल रहे हैं, ये नंबर हैं – 8617321715, 962226216. कथित तौर पर कॉलर बच्चों से शिक्षक बन कर बात करते हैं और बच्चों से वन टाइम पासवर्ड जैसी जानकारी मांगते हैं, ताकि उन्हें वॉट्सऐप ग्रुप में शामिल होने की अनुमति मिल सके. वे कॉल के दौरान ऐसे व्यक्ति के बारे में मैसेज या बात करते हैं जिसे युवा जानता हो.

 पाकिस्तानी खुफिया एजेंटों का टारगेट स्कूली छात्र
भारतीय सेना के आधिकारिक बयान में कहा गया है,”पाकिस्तानी खुफिया एजेंट बिल्कुल नए तरह के साइबर हमले का सहारा ले रहे हैं, जहां पर उनका ध्यान स्कूली छात्रों पर केंद्रित है. सेना ने इसे खतरनाक हरकत बताया है, जिस पर तुरंत ध्यान दिए जाने की जरूरत है. क्योंकि इस तरह की घटनाओं से राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता होने की आशंका है.

 सीमावर्ती इलाकों के छात्र पहला निशाना
सीमावर्ती इलाके जहां घुसपैठ के प्रयास ज्यादा होते हैं, वहां पर रहने वाले छात्र इनके निशाने पर प्रमुखता से हैं. हैकर्स अहम जानकारी जुटाने के लिए संवेदनशील इलाकों से इन क्षेत्रों की निकटता का लाभ उठाना चाहते हैं. अधिकारियों ने यह भी सलाह दी है कि व्यक्तिगत और संस्थागत दोनों स्तरों पर साइबर सुरक्षा ज्ञान और सुरक्षात्मक उपायों को लेकर जागरूकता बढ़ाने की जरूरत पर ध्यान दिया जाना चाहिए. भारतीय सेना के एक प्रवक्ता ने कहा, “हम स्थिति पर बारीकी से नजर रख रहे हैं और इन साइबर खतरों का प्रभावी ढंग से मुकाबला करने के लिए संबंधित अधिकारियों के साथ तालमेल बनाए हुए हैं. माता-पिता और स्कूलों को चाहिए कि वह छात्रों को जिम्मेदार ऑनलाइन व्यवहार और किसी भी संदिग्ध गतिविधियों की रिपोर्ट करने के बारे में शिक्षित करें.” (एजेंसी के इनपुट के साथ)

Tags: Cyber Attack, Indian army, Pakistan, Whatsapp

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!