Thursday, May 23, 2024
Homeमहाराष्ट्रCM नीतीश ने क्यों पलट दिया मंत्री आलोक मेहता का फैसला? तेजस्वी...

CM नीतीश ने क्यों पलट दिया मंत्री आलोक मेहता का फैसला? तेजस्वी के सामने ही बताई वजह

हाइलाइट्स

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के तबादले को रद्द करने की वजह बताई.
उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के सामने नीतीश कुमार ने बताई ट्रांसफर पोस्टिंग की गड़बड़ी की बात.
सीएम नीतीश ने महागठबंधन में सबकुछ ठीक होने और मंत्रिमंडल विस्तार जल्द होने की बात कही.

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार देर शाम अचानक से राजस्व भूमि सुधार विभाग के मंत्री आलोक मेहता के द्वारा किए गए विभागीय तबादले को रद्द कर दिया था. इसके बाद बिहार की सियासत में सरगर्मी तेज हो गई और चर्चा तेज हो गई कि क्या महागठबंधन में ऑल इज वेल नहीं है? बिहार के सियासी गलियारों में नीतीश कुमार के इस फैसले की वजह खोजी जाने लगी. तेजस्वी यादव के बेहद नजदीकी माने जाने वाले आलोक मेहता के फैसले को पलटने का मतलब क्या कुछ बड़ा है? लेकिन, इन तमाम सवालों का जवाब देने खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आगे आए और उन्होंने इसकी वजह भी बताई, और वह भी तेजस्वी यादव के सामने.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को अपने ठीक बगल में खड़ा कर राजस्व विभाग के ट्रांसफर को रोकने पर कहा कि ट्रांसफर को लेकर नियम के अनुसार काम हो रहा है. ट्रांसफर को लेकर विभाग को जानकारी दी जाती है. ट्रांसफर को लेकर कुछ बातें विभागीय चल रहीं थीं, इसलिए उसे रोका गया है, और कोई बात नहीं है. ट्रांसफर पोस्टिंग को लेकर महागठबंधन में कुछ विवाद की जो भी बातें हो रहीं हैं, मुख्यमंत्री ने उसका पुरजोर खंडन भी किया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जब ये बाते बोल रहे थे उनके साथ तेजस्वी प्रसाद यादव भी मौजूद थे. उनसे भी पत्रकारों ने यह सवाल पूछा कि महागठबंधन में कोई दिक्कत है, क्या इस कारण से ट्रांसफर पोस्टिंग रोके जा रहे हैं? इसका तेजस्वी यादव ने भी जोरदार खंडन किया और लगातार चल रही बातों पर विराम लगाने की कोशिश की. वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फिर जोर देकर कहा कि ट्रांसफर पोस्टिंग की बात को राजद-जदयू संबंधों से जोड़ने की बात सही नहीं है, फिर से ट्रांसफर पोस्टिंग की नई सूची बनेगी और वो जारी होगा.

दरअसल, राजस्व भूमि सुधार विभाग के मंत्री आलोक मेहता ने बड़े पैमाने पर विभाग में तबादले किए थे, जिसे लेकर काफी विवाद था. उनके फैसले पर सवाल खड़े किए जा रहे थे और कहा जा रहा था कि तबादले में नियमों का ध्यान नहीं रखा गया. बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां की गईं हैं. जूनियर्स को अच्छी पोस्टिंग दी गई और तेज तर्रार अधिकारियों को हाशिए पर धकेला गया. साथ ही कई आलोक मेहता की शिकायत राजद विधायक दल की बैठक में आरजेडी के विधायकों ने भी की थी. बताया जा रहा है कि तब तेजस्वी यादव ने इसके लिए आलोक मेहता को झिड़की भी लगाई थी. आखिरकार इन वजहों से तबादला रद्द कर दिया गया.

वहीं, बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार समय पर होगा इस संबंध में बात करके उसे पूरा कर लिया जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने मुस्कुराते हुए तेजस्वी यादव की ओर इशारा करते हुए कहा कि इसकी जानकारी आप लोगों को उपमुख्य मंत्री दे देंगे. हम तो देश को एकजुट करने में जुटे हुए हैं. बिहार में कोई समस्या ही नहीं है, कभी भी मंत्रिमंडल विस्तार हो जाएगा.

Tags: Bihar politics, CM Nitish Kumar, RJD leader Tejaswi Yadav

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!