Friday, July 19, 2024
Homeमहाराष्ट्र‘स्‍कूलों में पाठ्यक्रम, उद्योग को 50 % वित्तीय सहायता...’ देश को सेमीकंडक्‍टर...

‘स्‍कूलों में पाठ्यक्रम, उद्योग को 50 % वित्तीय सहायता…’ देश को सेमीकंडक्‍टर हब बनाने पर क्‍या बोले PM मोदी

गांधीनगर. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि देश में सेमीकंडक्टर विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने के लिए प्रौद्योगिकी कंपनियों को 50 प्रतिशत वित्तीय सहायता दी जाएगी. उन्होंने शुक्रवार को यह घोषणा करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने सेमीकंडक्टर उद्योगों को हर तरह की सुविधाएं दी हैं. मोदी ने गांधीनगर में ‘सेमीकॉन इंडिया 2023’ सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद कहा कि देश में सेमीकंडक्टर उद्योग की वृद्धि के लिए एक पूरा इकोसिस्‍टम तैयार किया जा रहा है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ”हम सेमीकॉन इंडिया कार्यक्रम के तहत प्रोत्साहन की पेशकश कर रहे थे. अब इसे बढ़ा दिया गया है और अब प्रौद्योगिकी फर्मों को भारत में सेमीकंडक्टर विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने के लिए 50 प्रतिशत वित्तीय सहायता मिलेगी.” पीएम मोदी ने कहा कि भारत में सेमीकंडक्टर उद्योग तेजी से वृद्धि करेगा. ”एक साल पहले, लोग पूछते थे कि उन्हें भारत के सेमीकंडक्टर क्षेत्र में निवेश क्यों करना चाहिए और अब वे ही पूछते हैं कि भारत में निवेश क्यों नहीं करना चाहिए.” उन्होंने कहा कि दुनिया को एक भरोसेमंद चिप सप्‍लाई चेन की जरूरत है.

विद्यालयों में होगी सेमीकंडक्‍टर की पढ़ाई
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि सेमीकंडक्टर डिजाइन पर पाठ्यक्रम शुरू करने के लिए भारत में 300 विद्यालयों की पहचान की गई है. दुनिया में हुई प्रत्येक औद्योगिक क्रांति अलग-अलग समय में लोगों की आकांक्षाओं से प्रेरित थी और उनका मानना है कि अब जो चौथी औद्योगिक क्रांति देखी जा रही है, वह भारत की आकांक्षाओं से प्रेरित है.

यह भी पढ़ें:- शरद-अजित पवार गुट को EC का नोटिस, पूछा- NCP किसकी? 17 अगस्‍त तक पेश करें दावा

फॉक्‍सकॉन बनाएगी भारत में सेमीकंडक्‍टर
फॉक्सकॉन ने शुक्रवार को कहा कि वह भारत में सेमीकंडक्टर मसौदे के भविष्य को लेकर आशावादी हैं. उन्होंने साथ ही जोर देकर कहा कि ताइवान भारत का सबसे भरोसेमंद और विश्वसनीय भागीदार है और रहेगा. फॉक्सकॉन के चेयरमैन यंग लियू ने ‘सेमीकॉन इंडिया 2023’ सम्मेलन में कहा कि ”आइए साथ मिलकर यह काम करें. भारत में चिप्स के लिए एक पारिस्थितिकी तंत्र बनाना बहुत बड़ा काम है… जहां चाह है, वहां राह है.” इसपर भारत सरकार के दृढ़ संकल्प की सराहना करते हुए लियू ने कहा, ”ताइवान आपका सबसे भरोसेमंद साझेदार है और रहेगा. आइए इसे मिलकर करें.”

सेमीकंडक्‍टर के इको-सिस्‍टम डिजाइन पर फोकस
भारत के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इस समारोह के दौरान कहा कि भारत सेमीकंडक्टर पारिस्थितिकी तंत्र के डिजाइन से लेकर विनिर्माण तक, सभी प्रमुख तत्वों पर जोर दे रहा है. उन्होंने कहा कि इस वजह से देश वैश्विक मूल्य श्रृंखला में एक भरोसेमंद भागीदार के रूप में उभर रहा है. वैष्णव ने ‘सेमीकॉन इंडिया 2023’ सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि आज अर्थव्यवस्था के प्रत्येक क्षेत्र में सेमीकंडक्टर की आवश्यकता है. मंत्री ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक्स की मांग हर साल बढ़ रही है. भारत के लिए माइक्रोन की मेगा योजनाओं के बारे में वैष्णव ने कहा कि संयंत्र का निर्माण जल्द शुरू होगा.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!