Sunday, July 14, 2024
Homeमहाराष्ट्र'G20 में नटराज की प्रतिमा देगी भारत के समृद्ध इतिहास की गवाही...'...

‘G20 में नटराज की प्रतिमा देगी भारत के समृद्ध इतिहास की गवाही…’ PM ने शेयर की 27 फीट ऊंची प्रतिमा, जानें खासियत

नई दिल्‍ली. जी20 शिखर सम्‍मेलन के दौरान देश की राजधानी दिल्‍ली को दुल्‍हन की तरह सजाया जा रहा है. इस कड़ी में भारत के समृद्ध इतिहास और संस्‍कृति को दिखाने के लिए जी20 सम्‍मेलन के वेन्‍यू के बाहर नटराज की 27 फीट ऊंची प्रतिमा को स्‍थापित किया गया है. पीएम नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया के माध्‍यम से इसकी जानकारी दी. तमिलनाडु के स्वामी मलाई के प्रसिद्ध मूर्तिकार राधाकृष्णन और उनकी टीम ने 18 टन की इस मूर्ति को बनाया है. दावा किया गया है कि जी20 वेन्‍यू प्रगति मैदान में स्थित भारत मंडपम के बाहर स्‍थापित की गई यह नटराज की मूर्ति अष्टधातु से बनी सबसे ऊंची मूर्ति है. संस्‍कृति मंत्रालय ने इस प्रोजेक्‍ट को सात महीने के अंतराल के दौरान पूरा किया है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर आर्ट द्वारा किए गए एक्‍स (पहले ट्विटर) पोस्‍ट को शेयर किया. उन्‍होंने लिखा, ‘भारत मंडपम में भव्य नटराज प्रतिमा हमारे समृद्ध इतिहास और संस्कृति के पहलुओं को जीवंत करती है. जैसे ही दुनिया जी20 शिखर सम्मेलन के लिए एकत्रित होगी, यह भारत की सदियों पुरानी कलात्मकता और परंपराओं के प्रमाण के रूप में खड़ा होगा.’

यह भी पढ़ें:- ग्‍लोबल साउथ, कर्ज जाल में विकासशील देश… Moneycontrol को दिए एक्‍सक्‍लूसिव इंटरव्‍यू में क्‍या कुछ बोले PM मोदी?

एक दिन पहले इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर आर्ट ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर तस्‍वीरें शेयर करते हुए लिखा था, ‘भारत मंडपम में अष्टधातु से बनी नटराज की मूर्ति स्थापित की गई है. 27 फीट ऊंची, 18 टन वजनी यह मूर्ति अष्टधातु से बनी सबसे ऊंची मूर्ति है और इसे तमिलनाडु के स्वामी मलाई के प्रसिद्ध मूर्तिकार राधाकृष्णन ने बनाया है. उनकी टीम ने रिकॉर्ड 7 महीने में इसे तैयार किया है. चोल साम्राज्य काल से ही राधाकृष्णन की 34 पीढ़ियां मूर्तियां बना रही हैं. जी20 के दौरान ब्रह्मांडीय ऊर्जा, रचनात्मकता और शक्ति का महत्वपूर्ण प्रतीक नटराज की यह प्रतिमा सम्मेलन में आकर्षण का केंद्र बनेगी. संस्कृति मंत्रालय की टीम आईजीएनसीए द्वारा इस प्रोजेक्‍ट को अंजाम दिया गया.’

बता दें कि जी20 शिखर सम्‍मेलन का आयोजन 9 और 10 सितंबर को दिल्‍ली होना है. इस दौरान इस ताकतवर संगठन के सभी 20 देशों के प्रतिनिधि एक साथ एक मंच पर बैठेंगे और दुनिया की अर्थव्‍यवस्‍था को नई दिशा देने पर चर्चा करेंगे. यह पहला मौका है जब भारत में इतने बड़े स्‍तर का शिखर सम्‍मेलन आयोजित हो रहा है.

Tags: G20 Summit, Pm narendra modi

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!