Thursday, February 29, 2024
Homeमहाराष्ट्रहुस्‍न के जाल में फंसकर हनी ट्रैप का शिकार बन रहे कश्‍मीरी...

हुस्‍न के जाल में फंसकर हनी ट्रैप का शिकार बन रहे कश्‍मीरी युवा, हत्‍थे चढ़ा श्रीनगर का गैंग, ऐसे बनाता था शिकार

नई दिल्‍ली. कश्‍मीर घाटी में हनी ट्रैप के माध्‍यम से भोले-भाले युवाओं को फंसाकर उनसे ठगी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है. पुलिस ने इस मामले में एक महिला सहित कुल चार लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है पहले यह गिरोह भोले-भाले लोगों को अपने हनी ट्रैप के जाल में फंसाता. फिर खुद को पुलिस अधिकारी बताकर पीड़ित को ब्‍लैकमेल किया जाता. पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी फिरदौस अहमद मीर अक्‍सर खुद को फर्जी पुलिस अधीक्षक (SP) बताकर जाल में फंसे लोगों को केस दर्ज करने की घमकी देकर उगाही करता था.

इसी तर्ज पर श्रीनगर के हब्बा कदल के रहने वाला मसर्रत मीर खुद को क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताकर ठगी की इस वारदात को अंजाम देता था. इस गिरोह में कुल तीन पुरुष और एक महिला हैं. महिला की पहचान श्रीनगर के बेमिना इलाके की रहने वाली आशिया के रूप में हुई है. वो इस पूरे गिरोह में हनी ट्रैप गर्ल की भूमिका निभाती थी. कश्‍मीरी युवकों को यह गिरोह अपना शिकार बनाता था. पुलिस के मुताबिक आशिया पहले अपने टार्गेट से दोस्‍ती करती. फिर उन्‍हें अपने घर लेकर जाती. वहां पहले से ही गिरोह के अन्‍य सदस्‍य मौजूद होते.

वीडियो बनाकर करते थे ठगी
कैमरे में पूरे घटनाक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग की जाती. वीडियो में ऐसा दिखाया जाता कि महिला के साथ जोर जबर्दस्‍ती की जा रही है. इसके बाद गिरोह के अन्‍य सदस्‍य सामने आकर पीड़ित युवक को ब्‍लैकमेल करते. पुलिस का कहना है कि गैंग का चौथा सदस्‍य श्रीनगर के लाल बाग का रहने वाला मोहम्‍मद तारिक मीर है. वो खुद को फर्जी रिपोर्टर बताकर पीड़ित को ब्‍लैकमेल करता था. उसकी भूमिका इस गिरोह में वीडियो वायरल करने व टीवी पर वीडियो चलाकर पीड़ित को बदनाम करने की धमकी देकर रुपये ऐंठने की होती थी.

पुलिस ने श्रीनगर के सदर थाने में आईपीसी की धारा-392 (लूटपाट), 472 (जालसाजी के इरादे से नकली मोहर आदि बनाना या रखना), 419 (खुद को अन्‍य व्‍यक्ति बातकर ठगी करना) के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है. सभी चार आरोपियों को सलाखों के पीछे भेज दिया गया है.

Tags: Crime News, Honey Trap, Kashmir news, Srinagar News

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!