Thursday, May 23, 2024
Homeमहाराष्ट्रइमाम हुसैन की याद में जिले भर में निकाले गए ताजिए, जगह-जगह...

इमाम हुसैन की याद में जिले भर में निकाले गए ताजिए, जगह-जगह लगाए गए शरबत और तबर्रुक के स्टॉल

शादाब चौधरी/मंदसौर. हजरत इमाम हुसैन की याद में मोहर्रम की 10 तारीख यानी कि शनिवार को मन्दसौर शहर सहित जिले भर में ताजिए निकाले गए. ताजिया निकालने के दौरान अखाड़े के माध्यम से लोग अपना करतब दिखाते नजर आए. ताजियों और अखाड़ों के स्वागत के लिए शहर भर में जगह-जगह छबीले लगाई जाती है. इन छबीलो पर कर्बला के प्यासे शहीदों की याद में शरबत पिलाया जाता है तो वहीं विभिन्न प्रकार का तबर्रुक लोगों के बीच तकसीम किए जाते है.

मोहर्रम की 9वीं तारीख पर शहर के थड़ी चौक मदारपुरा से बड़े इमाम साहब का सरकारी ताजिया भी इमाम हुसैन की याद में निकाला गया इस दौरान बैंड अखाड़ा और ढोल के साथ मंडी गेट क्षेत्र में अकीदतमंदों ने ताजिए को सलामी दी. बारिश को मद्देनजर रखते हुए साथियों के स्वागत के लिए जगह-जगह वाटर प्रूफ टेंट लगाकर छबीले लगाई गई ताकि श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े. मोहर्रम की 10वीं तारीख को शहर के विभिन्न क्षेत्रों से निकाले गए. रंग बिरंगी लाइटों से डेकोरेशन किए गए ताजियों के दीदार के लिए हजारों की तादाद में लोग शहर की सड़कों पर नजर आए.

मोहर्रम से इस्लामिक साल की होती है शुरुआत

देशभक्ति का जज्बा जगाए एक ताज़िया ऐसा भी नजर आया जिसकी गुंबज पर तिरंगे नुमा विद्युत सज्जा की गई थी. ताजिए शहर के घंटाघर, सदर बाजार, मंडी गेट, छिपा बाखल होते हुए शिवना नदी में स्थित कर्बला पहुंचेंगे. रविवार को शहर के तमाम क्षेत्रों से आए ताजियों को कर्बला में ठंडा किया जाएगा. जानकारी के मुताबिक शिवना नदी स्थित कर्बला के अलावा नाहर सैयद दरगाह के नज़दीक स्थित तालाब पर भी नई आबादी, इंदिरा कॉलोनी, नूर कॉलोनी सहित अन्य क्षेत्रों के ताजिए ठंडे किए जाएंगे.

आपको बता दें कि इस्लामिक नए साल की शुरुआत मोहर्रम के महीने से होती है और इसी महीने में इंसानियत को बचाने के लिए इमाम हुसैन कर्बला में शहीद हुए थे इसलिए मोहर्रम का यह पर्व इमाम हुसैन की याद में मनाया जाता है. मुस्लिम समाज के लोगों ने बताया कि मोहर्रम के महीने में मुस्लिम समाज के लोग इमाम हुसैन की याद में ताज़िए निकालकर इमाम हुसैन की शहादत को याद करते हुए भारत देश में अमन – शांति और भाईचारे के लिए दुआएं करते हैं.

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई

सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए शहर भर में वॉलिंटियर्स के साथ पुलिस बल भी तैनात रहा. सीएसपी सतनाम सिंह ने बताया कि मुस्लिम समाज के लोग शान्ति से मोहर्रम का त्यौहार मना रहे हैं किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना ना हो इसके लिए पूरे नगर में सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है.

Tags: Local18, Mandsaur news, Rajasthan news, Religion

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!