Friday, July 19, 2024
Homeमहाराष्ट्र‘टेक्नोलॉजी से इतने अनफ्रेंडली क्यों?’ जानें अर्जेंट लिस्टिंग के लिए CJI डीवाई...

‘टेक्नोलॉजी से इतने अनफ्रेंडली क्यों?’ जानें अर्जेंट लिस्टिंग के लिए CJI डीवाई चंद्रचूड़ ने वकीलों दिया क्या सुझाव

नई दिल्ली. देश के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) डीवाई चंद्रचूड़ ने शुक्रवार को सुझाव दिया कि वकीलों को केवल संचार के पारंपरिक तरीकों पर निर्भर रहने के बजाय अधिक तकनीकी रूप से अनुकूल दृष्टिकोण अपनाना चाहिए. वकील के एक मामले को सूचीबद्ध करने के लिए दवाब डालने के बाद उन्होंने ये आग्रह किया. उन्होंने कहा, ‘आप सभी तकनीक के प्रति इतने अनफ्रेंडली क्यों हैं? रजिस्ट्रार लिस्टिंग को एक ईमेल भेजें और मैं उन्हें देखूंगा और सूचीबद्ध करूंगा. कभी-कभी मैं दोपहर का भोजन नहीं करता हूं, लेकिन ईमेल पर ध्यान देता हूं.’

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए एक वकील की ओर से किसी मामले को उल्लेखित सूची में न होने के बावजूद तत्काल सूचीबद्ध करने के लिए दबाव डाला. इस पर सीजेआई चंद्रचूड़ ने कहा कि वो मामले को सूचीबद्ध करने के लिए रजिस्ट्रार को एक ईमेल भेज सकते थे. चीफ जस्टिस ने ये भी सवाल किया कि वकील टेक्नोलॉजी को अपनाने में अनइच्छुक क्यों दिखाई दिए?

सीजेआई एडवांस तकनीक के समर्थक
मुख्य न्यायाधीश चंद्रचूड़ लंबे समय से अदालती प्रक्रियाओं को आसान बनाने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने के समर्थक रहे हैं. पिछले मई में एक भाषण के दौरान उन्होंने इस बात पर जोर दिया था कि न्यायाधीशों को वादियों के लाभ के लिए प्रौद्योगिकी को अपनाना होगा और वादियों पर बोझ नहीं डाला जा सकता, क्योंकि न्यायाधीश प्रौद्योगिकी को लेकर असहज हैं.

खुद को फिर से प्रशिक्षित करें..
उस समय, CJI ने उच्च न्यायालयों से प्रौद्योगिकी सक्षम हाइब्रिड सुनवाई का उपयोग जारी रखने का आग्रह किया, यह बताते हुए कि ऐसी सुविधाएं केवल COVID-19 महामारी के दौरान उपयोग के लिए नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘मेरे एक फैसले में जिसे मैं कल रात संपादित कर रहा था, मैंने कहा है कि हम प्रौद्योगिकी के साथ अपनी बेचैनी के कारण अपने वकीलों पर बोझ नहीं डाल सकते. जवाब सरल है, खुद को फिर से प्रशिक्षित करें.’ भारत के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) के रूप में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ के पद संभालने के बाद सुप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री पूरी तरह से पेपरलैस हो गई है.

Tags: CJI, New Delhi news, Supreme Court

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Recent News

Most Popular

error: कॉपी करणे हा कायद्याने गुन्हा आहे ... !!